Friday, November 24, 2017
User Rating: / 0
PoorBest 

 

नवग्रहों में गुरु यानी बृहस्पति अपनी चाल बदलने जा रहे हैं। 8 अप्रैल की रात 10.10 बजे कर्क राशि में वक्री यानी टेढ़ी चाल चल रहे गुरु इसी राशि में मार्गी होंगे यानी सीधी चाल चलेंगे। 14 जुलाई तक गुरु मार्गी रहेंगे। गुरु का मार्गी होना शुभ प्रभाव को बढ़ाने वाला होगा। साथ ही बारिश के योग भी बनेंगे। गुरु के मार्गी होने से कई लोगों को जहां अनुकूलता का एहसास होगा वहीं कुछ लोगों को परेशानी हो सकती है।

(यह भविष्य कथन आपकी चंद्र राशि पर आधारित है)

मेष (Aries): बृहस्पति आपकी राशि के नौवें और बारहवें घर का स्वामी है। ऐसे में बृहस्पति की टेढ़ी चाल खत्म होने से आपको अनावश्यक खर्च और अचानक हो रहे नुकसान से राहत मिलेगी। इस दौरान आप घर पर रहकर आराम करना पसंद करेंगे। आपके मान-सम्मान और प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी और आप धार्मिक कार्यों में रुचि दिखा सकते हैं।

वृष (Tauras): वृष राशिवालों के आठवें और ग्यारहवें घर का मालिक बृहस्पति है। ऐसे में अब बृहस्पति के सीधी चाल चलने से आपके जीवन की आर्थिक अनियमितताएं समाप्त हो जाएंगी और समय बेहतर होगा। ज्ञान पाने की आपकी खोज आपको सही दिशा की ओर ले जाएगी।

मिथुन (Gemini): बृहस्पति या गुरु मिथुन राशिवालों के सातवें और दसवें घर का स्वामी है। लिहाजा अब अपनी लव लाइफ और करियर से जुड़ी बातों को संभालना आपके लिए आसान होगा। एक तरफ अपने प्रेमी या प्रेमिका के साथ आपका तालमेल बेहतर होगा तो वहीं दूसरी तरफ बिना ज्यादा मेहनत किए कार्यक्षेत्र में भी प्रशंसा होगी।

कर्क (Cancer): नौवें और छठें घर का स्वामी होने की वजह से गुरु आपकी राशि में चंद्रमा के साथ बैठा है। इसका मतलब यह है कि जीवन के हर क्षेत्र में भाग्य आपका साथ देगा। आपकी मेहनत आपको वांछित परिणाम दिलाएगी। हालांकि सेहत को लेकर लापरवाही न करें। साथ ही किसी के साथ मनमुटाव या झगड़ा ना हो, इसका भी ध्यान रखें।

सिंह (Leo): गुरु आपकी राशि के पांचवें और आठवें घर का स्वामी है और इस वक्त आपके चंद्रमा से बारहवें घर में बैठा है जो एक विचित्र परिस्थिति है। ऐसे में ड्राइव करते वक्त आपको जरुरत से ज्यादा सावधान रहने की जरुरत है। इस वक्त घर के बुजुर्गों को अधिक देखभाल की जरुरत है।

कन्या (Virgo): बृहस्पति आपके चौथे और सातवें घर का स्वामी है और इस वक्त ग्यारहवें घर में बैठा है। बृहस्पति के चाल बदलने के बाद आपकी अधूरी इच्छाएं पूरी होने का वक्त आ गया है। खासतौर पर अगर आप घर या गाड़ी खरीदने का मन बना रहे हैं तो आपकी ये इच्छा पूरी हो सकती है। कुल मिलाकर आर्थिक संपन्नता के साथ खुशियां भी आपके दरवाजे पर दस्तक दे रही हैं।

तुला (Libra): तुला राशिवालों के तीसरे और छठे घर का स्वामी है बृहस्पति जो इस वक्त दसवें घर में विराजमान है। इस परिस्थिति में आपको कड़ी मेहनत की बदौलत करियर में आगे बढ़ने के अवसर मिल सकते हैं। खासकर अगर आप नौकरीपेशा वर्ग से हैं तो ऐसा होने की संभावनाएं अधिक हैं। छोटे भाई-बहनों से किसी तरह की समस्या हो सकती है।

वृश्चिक (Scorpio): वृश्चित राशि के दूसरे और पांचवें घर का स्वामी बृहस्पति, इस वक्त आपके नौवें घर में बैठा है। यह आपकी आय और आमदनी में बढ़ोतरी के संकेत दे रहा है, खासतौर पर पारिवारिक संपत्ति में। आपके बच्चे पढ़ाई में बेहतर करेंगे। साथ ही आपका झुकाव दार्शनिक ज्ञान की तरफ अधिक होगा।

धनु (Sagittarius): आपकी राशि के पहले और चौथे घर का स्वामी गुरु, इस वक्त आठवें घर में है जो आपको अपने स्वास्थ्य और सेहत को लेकर सतर्क रहने के संकेत दे रहा है। आपको हर हाल में ड्राइव करते वक्त सतर्क रहने की जरुरत है। इस दौरान अगर आप अपना घर या गाड़ी बदलने का मन बना रहे हैं तो बृहस्पति इसमें आपकी मदद करेगा।

मकर (Capricorn): मकर राशि के तीसरे और बारहवें घर के स्वामी बृहस्पति के चाल बदलने से आपकी यात्रा करने की संभावना बन रही है। इसमें छोटी यात्रा, लंबी दूरी का यात्रा या फिर विदेश यात्रा भी शामिल है। यह सभी यात्राएं आपके लिए आर्थिक रूप से लाभदायक होने वाली है।

कुंभ (Aquarius): कुंभ राशिवालों की आय और संपत्ति इन दोनों ही घरों पर बृहस्पति का नियंत्रण है। इस वक्त छठे घर में बृहस्पति का होना इस ओर इशारा कर रहा है कि आपको कुछ कर्ज लेना पड़ सकता है। अगर आपने लोन के लिए आवेदन दे रखा है तो उसके पास होने की पूरी संभावना है। साथ ही दोस्तों का भी पूरा सहयोग मिलेगा।

मीन (Pisces): आपके पहले और दसवें घर का स्वामी बृहस्पति इस वक्त पांचवे घर में है। यह आपके करियर में ग्रोथ की ओर इशारा कर रहा है। खासकर यदि आप परामर्श या सलाह देने के प्रफेशन में हैं तो आपकी सलाह आपके क्लायंट को चकित कर सकती है। इससे करियर में आपकी पहचान और स्टेटस में भी बढ़ोतरी होगी।

 

साभार: नव भारत टाइम्स 

 

 

 

 

Astrology

Who's Online

We have 1691 guests online
 

Visits Counter

750956 since 1st march 2012