Friday, November 24, 2017
User Rating: / 0
PoorBest 

 navgrah

जीवन में प्यार को प्रदर्शित करने वाले वेलेंटाइन डे के अवसर पर प्रेमियों और विवाहित जोड़ों की जिन्दगी में प्रेम और उमंग सदैव बना रहे, इसके लिए जरूरी है एक दूसरे में तालमेल। दो व्यकितयों के बीच तालमेल अगर ग्रह नक्षत्रों के माध्यम से बनता है तो वह सात जन्मों तक चलता है। सामंजस्य अगर एक-दूसरे की राशि के गुण-दोष के अनुसार स्थापित हो तो प्रेम विवाह को सफल बनाने में ग्रहों का भी साथ रहेगा। नवग्रहों में प्रेम का कारक षुक्र को माना गया है, जन्मकुण्डली में बलवान षुक्र प्रेम में व्यकित को सफलता दिलाता है। बेमेल प्रेम विवाह के कारण विवाह के पश्चात वैवाहिक जीवन में अनेक कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। अगर राशि के अनुसार अथवा जन्मपत्री के अनुसार प्रेमी या जीवनसाथी का चयन किया जाए तो प्रेम विवाह के बाद वैवाहिक जीवन सुखमय होता है।

valentine day couple

मेष राशि - मेष राशि वालों का मेष, सिंह, धनु राशि वाले के साथ सर्वश्रेष्ठ सम्बन्ध बनता है। मिथुन, तुला एवं कुम्भ राशि वालों से सहयोग और प्रेम की परिपूर्र्णता के कारण श्रेष्ठ सम्बन्ध बनता है। वृष, कन्या एवं मकर राशि से प्रेम सम्बन्ध ठीक रहते हैं तथा कर्क, वृशिचक एवं मीन राशि वालों से सामंजस्य स्थापित नहीं हो पाता अर्थात इनसे वैचारिक मतभेद, वाद-विवाद व असहयोग की सिथति रहने के कारण अनुकूलता नहीं रह पाती।

वृष राशि - वृष राशि वालों का कर्क, वृशिचक एवं मीन राशि वालों से उत्कृष्ट प्रेम सम्बन्ध रहता है। मेष, सिंह एवं धनु राशि वालों में खूब पटती है। कन्या एवं मकर राशि वालों से सामान्य सम्बन्ध रहता है। मिथुन, तुला एवं कुम्भ राशि वालों से हानि होती है और सदैव मतभेद और विरोध बना रहता है।

मिथुन राशि - मिथुन राशि वालों का मेष, सिंह एवं धनु राशि से उत्कृष्ट प्रेम सम्बन्ध एवं वैवाहिक जीवन सुखमय रहता है। कर्क, वृशिचक एवं मीन राशि भी इनके लिए अनुकूल रहती है। वृष, कन्या एवं मकर राशि से विरोध रहता है। तुला एवं कुम्भ राशि से सामान्य सम्बन्ध रहता है।

कर्क राशि - कर्क राशि वालों के लिए वृष, कन्या एवं मकर राशियाँ सहयोगी बन पड़ती हैं। मिथुन, तुला एवं कुम्भ राशि से खूब निर्वाह होता है। वृशिचक तथा मीन राशि वालों से सामान्य प्रेम सम्बन्ध रहता है। मेष, सिंह एवं धनु राशियों से विरोध रहता है और कदापि इनके साथ वैवाहिक या प्रेम सम्बन्ध अनुकूल नहीं रहता है।

सिंह राशि - सिंह राशि वालों के लिए मिथुन, तुला एवं कुम्भ राशि वालों से श्रेष्ठ प्रेम सम्बन्ध बन पड़ता है। वृष, कन्या एवं मकर राशि वालों के साथ अच्छा निर्वाह होता है। मेष तथा धनु राशि वालों से सामान्य सम्बन्ध बनता है। कर्क, वृशिचक एवं मीन राशि वालों से विरोध रहता है, इनसे मधुर सम्बन्ध नहीं बन पाते।

कन्या राशि - कन्या राशि वालों का कर्क, वृशिचक एवं मीन राशि वालों से मधुर प्रेम सम्बन्ध रहता है। मेष, सिंह और धनु राशि वालों से भी अच्छी निभती है। मिथुन, तुला एवं कुम्भ राशि वालों से सदा विरोध रहता है। मकर एवं वृष राशि वालों से सामान्य सम्बन्ध रहता है।

तुला राशि - तुला राशि वालों का मेष, सिंह एवं धनु राशि वालों से उत्कृष्ट और प्रगाढ़ प्रेम सम्बन्ध बनता है। कर्क, वृशिचक एवं मीन राशि वालों से भी अच्छी निभती है। कुम्भ और मिथुन राशि वालों से सामान्य सम्बन्ध रहते हैं। वृष, कन्या एवं मकर राशि वाले व्यक्तियों से कतई नहीं पटती और सदा विरोध बना रहता है।

वृशिचक राशि - वृशिचक राशि वालों का वृष, कन्या एवं मकर राशि वालों के संग अच्छा निर्वाह होता है। मिथुन, तुला एवं कुम्भ राशि के संग भी मधुर सम्बन्ध रहते हैं। मीन एवं कर्क राशि वालों के साथ सामान्य सम्बन्ध रहते हैं। मेष, सिंह एवं धनु राशि के साथ विरोघ एवं कटुता रहती है।

धनु राशि - धनु राशि वालों का मिथुन, तुला एवं कुम्भ राशि वालों से अच्छा प्रेम बन पड़ता है। वृष, कन्या एवं मकर राशि वालों से अच्छी निभती है। मेष एवं सिंह राशि से सामान्य सम्बन्ध रहते हैं। कर्क, वृशिचक एवं मीन राशि वालों से शत्रुवत सम्बन्ध अर्थात विरोध ही रहता है।

मकर राशि - मकर राशि वालों का कर्क, वृशिचक एवं मीन राशि वालों से श्रेष्ठ सम्बन्ध बनता है। मेष, सिंह एवं धनु राशि वालों से अच्छी निभती है। वृष एवं कन्या राशि वालों से सामान्य संबंध रहता है। मिथुन, तुला एवं कुम्भ राशि वालों से कभी नहीं निभती है, सदैव विरोध बना रहता है।

कुम्भ राशि - कुम्भ राशि वालों के मेष, सिंह एवं धनु राशि वालों से अच्छे प्रेम संबंध रहते हैं। कर्क, वृशिचक एवं मीन राशि वालों से अच्छी निभती है। मिथुन एवं तुला राशि वालों से सामान्य सम्बन्ध रहते हैं। वृष, कन्या एवं मकर राशि वालों से विरोध बना रहता है।

मीन राशि - मीन राशि वालों का कर्क राशि वालों के प्रति मात्र शारीरिक आकर्षण रहता है। वृशिचक राशि से सामान्य प्रेम सम्बन्ध बनता है। वृष, कन्या, मकर, मिथुन, तुला एवं कुम्भ राशि वालो से प्रेम वैवाहिक जीवन सदा सुखमय एवं सफल बन पड़ता है। मेष, सिंह, धनु, मीन राशि वालों से विरोध बना रहता है।

Add comment

We welcome comments. No Jokes Please !

Security code
Refresh

Astrology

Who's Online

We have 1349 guests online
 

Visits Counter

750955 since 1st march 2012