Monday, November 20, 2017
User Rating: / 0
PoorBest 

raakhi1

श्रावणी पूर्णिमा को रक्षा बंधन का त्यौहार मनाया जाता है। रक्षा बंधन के दिन बहन अपने भाई की कलाई पर एक धागा बांधती है जिसे राखी कहते हैं। बदले में भाई बहन को रक्षा का वचन देता है। प्रेम और विश्वास का यह धागा भाई बहन के बंधन को और भी मजबूत करता है।

 

chotya bheem raakhi3

      छोटा भीम राखी                                                एंग्री बर्ड राखी 

mickey mouse   doremon

             मिकी माउस राखी                                               डोरेमोन राखी


बहन अपने भाई की दाईं कलाई पर राखी का धागा बांधती है और उनकी लंबी आयु के लिए प्रार्थना करती है। विभिन्न प्रकार की राखी बाजार में मिलते हैं। बहनें अपनी हैसियत के अनुसार राखी खरीदती हैं और भाई अपनी हैसियत के अनुसार उन्हें उपहार देते हैं। राखी की दुकानों पर केवल धागे भी मिलते हैं। इसकी कीमत कम होती है। धागों पर तरह तरह के डिजायन भी बने होते हैं। तरह तरह के काटर्ून कैरेक्टर भी बने होते हैं। इस साल छोटा भीम राखी, एंग्री बर्ड राखी, मिकी माउस राखी, डोरेमोन राखी का बहुत क्रेज है। सस्ती राखियों में साधारण रेशम का धागा, फूल वाला धागा, मेरा भैया लिखी राखी, शंख सजी राखी मिल रही है। इससे कीमती है स्टोल वाली राखी, रूद्राक्ष वाली राखी, मोती वाली राखी, टेडी वाली राखी, स्पाईडरमैन, डाल इत्यादि। बालाजी व उं लिखी स्टोन और नग वाली राखी भी मिल रही है। ननद भाभी के लिए लुंबा राखी भी बाजार में उपलब्ध है। बड़े बड़े शो-रूम में सोना, चांदी, कीमती रत्न, हीरे जडि़त राखी मिलती है जिनकी कीमत हजारों में है।

जब कोई लड़की महसूस करती है कि कोई लड़का उससे प्यार करता है और आगे चलकर एक तरफा प्यार का यह रिश्ता लड़की के लिए खतरनाक हो सकता है, तो लड़की उस लड़के को घरवालों के सामने राखी बांधती है और इस रिश्ते को भाई बहन का रूप दे देती है। यह राखी का सामाजिक पहलू है। इस तरह राखी लड़कियों के लिए रक्षा कवच का भी काम करती है।

एक ओर राखी के धागे का बंधन बहुत मजबूत होता है। इस बंधन को तोड़ना बहुत मुशिकल है। वहीं दूसरी ओर राखी का व्यावसायीकरण भी हो रहा है। आजकल हर त्यौहार का व्यावसायीकरण हो रहा है इसलिए राखी के त्यौहार का व्यावसायीकरण होना कोई नई बात नहीं। परंतु राखी के बंधन को व्यवसाय के दृषिट से नहीं देखना चाहिए। कहीं कहीं ऐसा भी हो रहा है। बहनें महंगी से महंगी राखी खरीदकर भाई को बांधती हैं और उम्मीद करती हैं कि भाई भी उन्हें बहुत कीमती उपहार दें, उपहार बहन के उम्मीद के अनुरूप न होने पर बहनें नाराज हो जाती हैं और सोचती हैं कि बेकार में राखी खरीदने में इतना पैसा बर्बाद किया। भाई भी उम्र भर बहन की रक्षा करने की जिम्मेदारी उठाने की जगह कीमती तोहफा देकर छुटकारा पाना ही बेहतर समझते हैं और राखी का मूल उददेश्य कहीं खो रहा है।

rakhi thread

                             राखी का धागा

असली राखी तो वह धागा है जो बाजार में सबसे सस्ता है। पैसे में कीमत देखी जाए तो इसे सस्ता कह सकते हैं। पर सबसे कीमती यही है क्योंकि यही धागा असली राखी है। इसके उपर की डिजायन तो सजावट के लिए होती है। राखी और उपहार की कीमत न देखें , इसके पीछे छिपी भावना को पहचानने की कोशिश करें।

Add comment

We welcome comments. No Jokes Please !

Security code
Refresh

culture

Who's Online

We have 3135 guests online
 

Visits Counter

749580 since 1st march 2012