Thursday, November 23, 2017
User Rating: / 0
PoorBest 

 

 1439896348-5532.jpg - 5.69 Kb

 

इस बार 7 मार्च यानी भगवान शिव के प्रिय दिन  को महाशिवरात्रि है। इस दिन महाशिवरात्रि होने से शिव पूजा कई गुना अधिक पुण्य फलदायक होगी। इस बार शिव आराधना के लिए महाशिवरात्रि का दिन विशेष शुभफलदायी रहेगा।

क्यों है इस बार कीमहाशिवरात्रि विशेषमहत्वपूर्ण :- 

वैसे तो हर मास की कृष्ण पक्ष चतुर्दशी को मास शिवरात्रि मनाई जाती है, फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी को त्रयोदशी संयुक्त चतुर्दशी एवं रात्रि प्रधान चतुर्दशी को महाशिवरात्रि की प्रधानता मानी गई है। इस बार चतुर्दशी सोमवार दोपहर 1:20 बजे से प्रारंभ होकर मंगलवार प्रातः10:33 तक रहेगी। यह महाशिवरात्रि इसलिए भी बहुत विशेष है क्योंकि शिव की दोनों तिथियां त्रयोदशी और चतुर्दशी शिववार सोमवार को आ रही है। इसी दिन शुभ योग एवं पंचग्रह, ग्रहण और कालसर्प योग भी रहेंगे, जिनसे ग्रह शांति का विशेष लाभ मिलेगा।शिव तंत्र के महादेव है इसलिए तंत्र की 4 महारात्रियों में से एक तथा मार्च की पहली महारात्रि महाशिवरात्रि है। तंत्र में कई साधना ऐसे होती है, जो केवल इसी रात्रि को की जा सकती है। जिसे करने से कई गुना फलदायी एवं सिद्धिदायक होती है। इसी दिन शिवज्योति का प्राकट्य और शिव पा‍र्वती विवाह हुआ था। 

 

courtesy:webdunia

 

 

 

culture

Who's Online

We have 513 guests online
 

Visits Counter

750290 since 1st march 2012