Friday, November 17, 2017
User Rating: / 1
PoorBest 

polluted-ganga-water

इलाहाबाद। हाईकोर्ट के आदेश के बावजूद कुंभ के श्रद्धालुओं को गंगा को साफ जल नहीं मिल रहा है। प्रशासन की मिलीभगत से ऐसा नहीं हो पा रहा है क्योंकि कानपुर की टेनरियों का पानी अभी भी गंगा में मिलाया जा रहा है।


पानी का रंग बदलने से प्रशासनिक अधिकारियों में हड़कम्प मच गया। डीएम राजशेखर ने गंगा यमुना के आस-पास इकाईयों की निगरानी के लिए तीन सदस्यीय टीम गठित कर दी। गंगा जल बदले रंग को देखकर साधु संतों में भी खासा रोष व्याप्त है। इलाहाबाद हाइकोर्ट की फटकार के बाद पुलिस प्रशासन और प्रदूशण नियंत्रण की संयुक्ट टीम ने कानपुर और जाजमउ की टेनरियों में सोमवार को छापेमारी की थी जहां की 50 टेनरियों को गंदा पानी सीधा गंगा में गिराया जा रहा था।

बीओडी की मात्रा बढ़ी

गंगा और यमुना का जल डुबकी लगाने लायक नहीं है। दोनो नदियों के जल का प्रदूषण का आंकड़ा प्रतिदिन लिया जा रहा है। इस समय गंगा में बायोलाजिकल आक्सीजन डिमांड यानी बीओडी की मात्रा 5 मिलीग्राम प्रति लीटर से अधिक है। यमुना 3 मिलीग्राम प्रतिलीटर से अधिक है। दोनो नदियों में डुबकी लगाने के लिए बीओडी की मात्रा 3 मिलीग्राम प्रतिलीटर से अणिक नहीं होनी चाहिए।

गंगा के निर्मलीकरण के चक्काजाम
ganga purification issue
गंगा में आ रहे काले पानी से भड़के संत-महंतों ने प्रदर्शन किया। संतों ने चेतावनी दी कि अगर 10 दिनों के अंदर गंगा को प्रदूषण मुक्त नहीं गया और गंगा के पानी को रंग साफ नहीं हुआ तो संत कुंभ मेला में प्रवेश करने वाले सभी मार्गों पर चक्का जाम कर देंगे।
संगम की रेती पर अविरल गंगा के लिए संतो ने हुंकार भरी। टीकरमाफी आश्रम से चली संतो की टोली ने मोरी रोड गंगा तट पर जाकर गंगा जल का निरीक्षण किया। स्वामी हरिचैतन्य ब्रहमचारी ने कहा कि प्रशासन के कई बार के आश्वासन के बाद भी गंगा की वही सिथति है। उन्होंने मेले के दौरान 3500 क्यूसेक पानी छोड़े जाने की मांग की। यदि गंगा में काला पानी आता रहा तो संतमेला क्षेत्र के आवागमन के सभी रास्तों को पूरी तरह से बंद करके चक्काजाम करेंगे।
काशी सुमेरूपीठ के शंकराचार्य वासुदेवानंद सरस्वती ने कहा कि गंगा प्रदूषण मुक्त नहीं हुई तो सभी संत महात्मा राज्य सरकार और कुंभ मेला प्रशासन का विरोध करेंगे। संतों और श्रद्धालुओं को गंगा के नाम पर छला जा रहा है। महंत मोहन गिरि ने कहा कि कुंभ मेला गंगा की वजह से ही लग रहा है लेकिन शासन उसको लेकर ही आंखो में धूल झोंक रही है।

Add comment

We welcome comments. No Jokes Please !

Security code
Refresh

Magh Mela 2014

Who's Online

We have 2888 guests online
 

Visits Counter

748452 since 1st march 2012