Wednesday, November 22, 2017
User Rating: / 0
PoorBest 

paush poornima
कुम्भ नगरी इलाहाबाद में पौष पूर्णिमा स्नान के पर्व पर श्रद्धालुओें, स्नानार्थियों में काफी उत्साह देखा गया। प्रात: कड़ाके की ठंड के बावजूद श्रद्धालुओ में स्नान को लेकर काफी उमंग और श्रद्धा परिलक्षित थी। बच्चे, बूढ़े, युवा, महिलाएं सभी संगम की ओर बढ़ते नजर आये। पौ फटने के साथ ही लोगों की भीड़ और उत्साह बढ़ता गया। संगम तट पर जल्द से जल्द पहुंचकर स्नान कर इष्ट देवताओं से कृपा प्राप्त करने की लोगों में कौतुहल देखी गई।


मेले में स्नानार्थियोंश्रद्धालुओं के स्नान के लिए मेला प्रशासन द्वारा की गयी व्यवस्थाओं का जायजा मण्डलायुक्त श्री देवेश चतुर्वेदी आई0जी0 श्री आलोक शर्मा सहित मेलाधिकारी श्री मणि प्रसाद मिश्र, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मेला श्री आर0के0एस0 राठौर ने मेले में घूम कर सुरक्षा व्यवस्था एवं स्नानार्थियों को दी गयी सुविधाओं का निरीक्षण करते हुए आवश्यक दिशा निर्देष दिये। संगम नोज अखाड़ा स्नान घाट के पास, शाही अखाड़ा वापसी मार्ग के बगल, महाबीर मार्ग के समापन स्थल, त्रिवेणी अपर संगम क्रासिंग पर एवं अरैल घाट के अलावा अन्य सभी स्नान घाटों पर स्नानार्थियों की काफी भीड़ रही।

paush poornima

मण्डलायुक्त श्री देवेश चतुर्वेदी ने आज मीडिया सेंटर में पौष पूर्णिमा स्नान के सम्बन्ध में आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान बताया कि मेला कंट्रोल रूम से इस स्नान पर्व पर आयी भीड़ की जो संख्या आकलित की गयी है उसके अनुसार सायं 4 बजे तक 45 लाख से अधिक लोगों ने स्नान कर लिया था। पौष पूर्णिमा का स्नान यधपि कल सायंकाल से ही प्रारम्भ हो गया था और संगम स्नान के लिए आने वाले श्रद्धालुओं का तांता रात भर लगा रहा जो आज दोपहर तक चलता रहा हालांकि सायं काल तक श्रद्धालु स्नान के लिए आते देखे गये। आयुक्त ने बताया कि कंट्रोल रूम की संख्या के बारे में यह आकलन प्रात: 4 बजे से सायं 4 बजे तक का है जो कुंभ क्षेत्र के 18 स्नान घाटों पर स्नानार्थियों पर केनिद्रत रहा है। उन्होंने यह भी बताया कि पौष पूर्णिमा का स्नान कुंभ क्षेत्र के अलावा इलाहाबाद के गंगा और यमुना के अन्य स्नान घाटों पर भी होता है। बड़ी संख्या में लोग यहां स्नान करते है। यह सब संख्या यदि समिमलित की जायेगी तो स्नानार्थियों की सम्पूर्ण संख्या 55 लाख से भी अधिक हो जायेगी। 

paush poornima

आयुक्त ने बताया कि आज के स्नान पर्व के लिए कुंभ क्षेत्र के कुल 18 स्नान घाटों पर स्नान के लिए 11500 फीट उपलब्ध था। सबसे बड़ा स्नान का क्षेत्र सेक्टर 3 और 12 में उपलब्ध रहा है। इसके बाद सेक्टर 5,6 एवं 8 में भी लोगों ने बड़ी संख्या में स्नान किया। आयुक्त ने बताया कि आज का कुंभ का यह दूसरा स्नान पर्व सकुशल सुव्यवसिथत ढंग से सम्पन्न हुआ और कही से भी किसी अप्रिय घटना का समाचार नही है। उन्होंने बताया कि मेले में कल्पवासी आ गये है और आवासित हो गये है। इस समय अखाड़ों और कल्पवासियों को मिलाकर लगभग 5 लाख से अधिक लोग आवासित हो चुके है।

paush poornima

मेले में लगी सुरक्षा व्यवस्था में जल पुलिस, घुड़सवार पुलिस के अलावा नागरिक पुलिस, यातायात पुलिस, महिला पुलिस, पी0ए0सी0, निरीक्षक, उपनिरीक्षक, मुख्यआरक्षी, आरक्षी, होमगार्ड, सेन्ट्रल पैरामिलिट्री फोर्स, उत्तराखण्ड पुलिस, ए0टी0एस0 के कमाण्डों, सी0आर0पी0एफ0 के कमाण्डों, आई0टी0बी0पी0 के अतिरिक्त एस0टी0एफ0, आई0बी0, सेन्ट्रल इन्टेलीजेन्स, एल0आई0यू0 के अधिकारी व कर्मचारी भारी संख्या में तथा नागरिक सुरक्षा कोर के स्वंयसेवी भी डयूटी पर मुस्तैद रहे जिससे पौष पूर्णिमा का स्नान सकुषल तरीके से सम्पन्न हुआ।

Add comment

We welcome comments. No Jokes Please !

Security code
Refresh

Magh Mela 2014

Who's Online

We have 1520 guests online
 

Visits Counter

750264 since 1st march 2012