Friday, November 17, 2017
User Rating: / 0
PoorBest 

shaheedon ka shivir

महा कुंभ को आस्था की नगरी भी कहते हैं। मेला क्षेत्र में जिधर भी नजर दौड़ाएं साधू -संत ही दिखते हैं। इन सबके बीच में कुंभ क्षेत्र के सेक्टर नौ में एक ऐसा शिविर है जो शहीदों को समर्पित है। संत महात्मा भी शहीदों के इस गांव में आकर सर झुकाते हैं। संत बालक योगेश्वर दास का पूरा शिविर ही शहीदों के नाम समर्पित है। इस शिविर में शहीदों की पूजा होती है और सुबह शाम शहीदों तथा भारत माता के नाम के जयकारें सुनार्इ पड़ती हैं। परिसर में बने शतकुंडीय यज्ञ मंडप के भीतर शहीदों की आत्मा की शांति और सीमा पर तैनात जवानों को शकित , आत्मबल प्रदान करने के लिए लगातार याज्ञिक अनुष्ठान चलता रहता है।

मंडप के बाहर शहीदों के चित्र लगे हुए हैं। चंद्रशेखर आजाद ,भगत सिंह , राजगुरू ,कारगिल युद्ध के शहीद , मुंबर्इ एवं अन्य हमलों के शहीदों के चित्र के साथ उनका संक्षिप्त विवरण तथा उनके उदगार भी देखने को मिलते हैं। 

यह महायज्ञ माघ पूर्णिमा तक चलेगा और इसे अतिरूद्र महायज्ञ पंडित मृदुल बिहारी करा रहे हैं। महायज्ञ में अनेक शहीद परिवारों को भी बुलाया गया है। इसमें 500 पुरोहित मंत्राच्चारण करेंगे और शहीद परिवार यज्ञ में आहूति डालेंगे। 

इन शहीद परिवारों के रहने के लिए बनाए गए शिविरों के तीन अलग अलग सेक्टरों के नाम भी शहीद स्थलों के नाम पर रखे गये हैं - तोलोलिंग ,बटालिक और टाइगर हिल।

इस शिविर के सभी धार्मिक अनुष्ठानों का पुण्य शहीदों के नाम है।

Add comment

We welcome comments. No Jokes Please !

Security code
Refresh

Magh Mela 2014

Who's Online

We have 3230 guests online
 

Visits Counter

748452 since 1st march 2012