Sunday, November 19, 2017
User Rating: / 0
PoorBest 

kumbh tradegy 10th feb
इलाहाबाद। मौनी अमावस्या पर हुए हादसे के बाद कुंभ मेला क्षेत्र में लोगों के चेहरों पर भय को आसानी से देखा जा सकता था। बीती रात हुए हादसे के बाद व्यवस्था और भी चौकस दिखी। कई दिनों के सफल आयोजन के बाद अमावस्या की रात बुरे हादसे ने मेले में आए श्रद्धालुओं को भी झकझोर कर रख दिया। साधु संत और कलपवासी दिन भर हादसे को लेकर हो रही सियासत से दुखी जरूर नजर आए।

बाघंबरी मठ के महंत नरेंद्र गिरि ने इस घटना पर दुख व्यक्त करते हुए कहा है कि यह घटना रेलवे प्रशासन की लापरवाही की वजह से हुआ है। उन्होंने कहा कि कुभ मेला प्रशासन को रेल प्रशासन के साथ उचित तालमेल करते हुए भीड़ को नियंत्रित करने के प्रयास करना चाहिए था। अब घायलों को उचित इलाज हो तो बेहतर होगा। 
सारे दिन अखाड़ों और पंडालों में इसी हादसे की चर्चा होती रही। रविवार को भी बड़ी संख्या में लोगों ने संगम में स्नान किया लेकिन माहौल कुछ बदला-बदला सा लगा। लोगों को डंडे लेकर फटकारती पुलिस आज एक-एक पैदल यात्री को सुविधा के साथ निकाल रही थी। वाहनों को आवाजाही के बावजूद पैदल श्रद्धालुओं को खास ख्याल रखा जा रहा था ताकि किसी अनहोनी से बचा जा सके। प्रयागघाट और दारागंज और जंक्शन समेत शहर के सभी प्रमुख स्टेशनों भारी मात्रा में पुलिस बल तैनात रही ताकि कोई घटना न हो सके। स्टेशन पर भी भारी भीड़ के बावजूद लोग शांति से अपनी रेल का इंतजार करते दिखे।

विदेशी मीडिया में भी छाया कुंभ हादसा

मौनी अमावस्या को हुआ दर्दनाक हादसा विदेशी मीडिया में भी छाया रहा। महाकुंभ न केवल भारत बलिक विदेशी मीडिया के लिए बड़ा मौका था। पूरे देश भर से पत्रकार कुंभ से कवरेज करने आए थे। द आस्ट्रेलियन, स्ट्रेट टाइम्स, बीबीसी, न्यूयार्क टाइम्स, सीएनएन जैसे प्रमुख अखबारों ने हादसे को प्रमुखता से प्रकाशित किया है।

Add comment

We welcome comments. No Jokes Please !

Security code
Refresh

Magh Mela 2014

Who's Online

We have 2413 guests online
 

Visits Counter

749181 since 1st march 2012