Friday, November 17, 2017
User Rating: / 0
PoorBest 

 

 

 

image02

इलाहाबाद। उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने महाकुंभ के दौरान इलाहाबाद रेलवे स्टेशन पर हुए हादसे को दुखद बताते हुए कहा कि ऐसी घटनाओं की पुनरावृतित रोकने के हर संभव प्रयास किए जाएंगे। मंगलवार को घटना के दो दिन बाद पहुंचे मुख्यमंत्री के ने स्वरूपरानी अस्पताल जाकर हादसे में घायलों से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि यह अत्यंत दुखद घटना थी और ऐसी घटना भविष्य में न हो इसके हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि आगामी 15 फरवरी को महाकुंभ का एक और बड़ा पर्व बसंत पंचमी है। उस दिन भी अधिक भीड़ की संभावना को देखते हुए अधिक मात्रा में सुरक्षाकर्मी तैनात किए जाएंगे। इससे पहले मुख्यमंत्री ने रेलवे स्टेशन जाकर घटना स्थल का भी दौरा किया।

उन्होंने बड़े ही संयमित अंदाज में कहा कि सरकार घायलों को हर संभव सहायता देने को तैयार है तथा कुंभ प्रशासन ने काफी बेहतरीन इंजताम किए थे इसमें कोर्इ शक नहीं है। उन्होंने यह भी कहा कि इस हादसे के लिए कौन जिम्मेदार है तथा दोषी को क्या सजा होनी चाहिए यह कहना जल्दबाजी होगी। आगे उन्होंने कहा कि सरकार की पहली प्राथमिकता पीडि़तों को इलाज कराना है। इसके बाद ही किसी बात पर चर्चा की जाएगी मामले की उच्च स्तरीय जांच चल रही है। 

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने रविवार शाम इलाहाबाद रेलवे स्टेशन पर हुए हादसे में मृतक आश्रितों को दी जाने वाली आर्थिक सहायता में दो लाख रुपए बढ़ा दिए हैं। अब आश्रितों को पांच के बजाए सात लाख रुपए की आर्थिक सहायता दी जाएगी और घायलों को एक लाख की जगह दो लाख रुपए की आर्थिक सहायता दी जाएगी। 
बताते चलें कि प्रदेश और केन्द्र सरकार दोनों ने घटना की जांच के आदेश दिए हैं लेकिन साथ ही हादसे की जिम्मेदारी कोर्इ भी लेने को तैयार नही है तथा एक दूसरे पर जिम्मेदारी थोपने की कोशिश की जा रही है। यूपी के मंत्री और कुंभ मेले के प्रभारी आजम खान ने सोमवार को घटना की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए मेला प्रभारी पद से इस्तीफा दे दिया लेकिन हादसे को मेला क्षेत्र से बाहर हुआ बताकर उन्होंने घटना की जिम्मेदारी केन्द्र पर डालने की कोशिश भी की। घायलों से मिलने पहुंचे रेल मंत्री पवन कुमार बंसल ने घटना पर सफार्इ दी लेकिन वह भी जिम्मेदारी लेने से बचते रहे।

राज्यपाल भी पहुंचे घायलों से मिलने

image03

मंगलवार को प्रदेश के राज्यपाल बी एल जोशी भी घायलों से मिलने इलाहाबाद पहुंचे। करीब 40 मिनट तक राज्यपाल घायलों से उनका हाल चाल पूछते रहे। मीडिया से बातचीत करते हुए राज्यपाल ने घटना को दुखद बताया। मृतकों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए उन की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना किया। उन्होंने कहा कि स्थानीय लोगों को भी इस मौके पर मदद के लिए आगे आना चाहिए।

 

 

 

Add comment

We welcome comments. No Jokes Please !

Security code
Refresh

Magh Mela 2014

Who's Online

We have 3344 guests online
 

Visits Counter

748452 since 1st march 2012