Sunday, November 19, 2017
User Rating: / 0
PoorBest 

shahi snan basant
मौनी अमावस्या के स्नान के बाद इलाहाबाद में मची भगदड़ में 36 लोगों की जान चली गई। खबर है कि कुंभ क्षेत्र में भी भगदड़ मची थी। कुल मिलाकर देखा जाए तो मौनी अमावस्या के स्नान में भीड़ को नियंति्रत करने में प्रशासन से ही चूक हुई है।
जहां पर तीन करोड़ से अधिक लोग स्नान करने आते हैं वहां क्राउड मैनेजमेंट की बहुत आवश्यकता होती है। क्राउड मैनेजमेंट का मतलब है भीड़ को नियंति्रत करना लेकिन अफसर इसमें सफल नहीं हुए।

ट्रांसपोर्ट की कमेटी का को-आर्डिनेशन आईजी अलोक शर्मा के अधीन था। निर्माण कार्यों के प्रोजेक्ट कमिश्नर के अधीन था। सारे इंतजामों को चीफ सेक्रेटरी जावेद उस्मानी लखनउ से को-आर्डिनेट कर रहे थे।

को आर्डिनेशन कमेटी से तो चूक हुई है । स्पष्ट समझ में आ रहा है कि सब विभागों के मध्य को आर्डिनेशन सही नहीं था। स्नान के पश्चात इलाहाबाद के बाहर से आये हुए श्रद्धालुओं को मेला क्षेत्र से बाहर निकालने की जिम्मेदारी जिन पर थी उन्होने जल्द से जल्द मेला क्षेत्र को खाली करवा दिया। यह नहीं सोचा कि इतनी भारी भीड़ कहां जाएगी। अगर पूरी भीड़ जंक्शन पर पहुंच गई तो क्या होगा। स्टेशन पर कितनी बसें और ट्रेनें हैं इसकी जानकारी को आर्डिनेशन कमेटी को नहीं थी। सभी एम्बुलेंस मेला क्षेत्र में थे । भीड़ को मेला क्षेत्र से निकाल दिया गया है । उनके ठहरने के लिए कोई जगह नहीं बनाई गई है अत: भीड़ घर रवाना होने के लिए स्टेशन ही जाएगी वहां भी कोई हादसा हो सकता है तो एम्बुलेंस वहां भिजवा दी जाए।

जब इतनी अधिक भीड़ के आने का अनुमान था तो स्टेशन के आस पास अस्थायी विश्राम घर बनाना चाहिए था। ऐसा कुछ नहीं हुआ। अखिलेश यादव ने बिना जांच के ही अपने अफसरों को क्लीन चिट दे दिया है पर अब हाई कोर्ट ने इन अफसरों से जवाब मांगा है। खैर इस गलती के बाद प्रशासन 15 फरवरी के स्नान के लिए तैयारियों में जुट गयी है।

बसंत पंचमी इस महाकुंभ का तीसरा और आखिरी शाही स्नान है। पिछले शाही स्नान से सबक लेते हुए प्रशासन ने जोरदार तैयारियां की है। 
इस स्नान पर्व पर एक करोड से अधिक़ श्रद्धालुओं के डुबकी लगाने का अनुमान है। बुधवार को मेला प्रशासन कार्यालय में रेलवे अफसरों और मेला तथा पुलिस से जुड़े अधिकारियों की संयुक्त बैठक में शाही स्नान पर्व संबंधी कुछ निर्णय लिए गए।

विश्राम स्थल की व्यवस्था-
बसंत पंचमी के दिन स्टेशन के पास के चार स्कूलों ,बड़े भवनों और मैदान में जन सुविधाओं से युक्त आश्रय स्थल बनाए जाएंगे। आवश्यकता होने पर अन्य स्कूलों को भी श्रद्धालुओं के विश्राम स्थल के रूप में प्रयोग किया जाएगा।

रेलवे स्टेशन की व्यवस्था-
स्टेशन के दोनो तरफ से नियमित रूप से बसों का संचालन होगा ताकि रेलवे स्टेशन पर याति्रयों का बोझा कम हो। रेलवे स्टेशन और बस अडडे के पास 24 घंटे 7 एमबुलेंस तैनात रहेगी।

याति्रयों को जानकारी-
श्रद्धालुओं को जानकारी देने के लिए सार्वजनिक उदघोषणाएं होंगी। इन उदघोषणाओं से ही आश्रय स्थल से रेलवे स्टेशन जाने वाले याति्रयों को संचालित किया जाएगा इससे स्टेशन पर भीड़ अनियंति्रत नहीं होगी।

अतिरिक्त बस व रेलगाड़ी-
15 फरवरी को सामान्य ट्रेनों के साथ ही मेला स्पेशल भी चलेगी। यह ट्रेनें समय से चलेगी। बसंत पंचमी के बाद दो दिन तक स्नानर्थियों को रेलवे स्टेशन के दोनो तरफ बसें मिलेंगी। भीड़ को देखते हुए 1500 अतिरिक्त बसें चलाई जाएगी। यदि बसों में कोई खराबी आ जाती है तो 24 ब्रेक डाउन वाहनों का प्रबंध किया गया है।
यह बैठक कमिश्नर देवेश चतुर्वेदी और आईजी अलोक शर्मा के नेतृत्व में हुआ है। बैठक में मेलाधिकारी रेलवे संजय ति्रपाठी ,रोडवेज के क्षेत्रीय प्रबंधक पीआर बेलवरिया , सेवा प्रबंधक जयदीप वर्मा इत्यादि शामिल थे।

इसके अलावा मेले में भी सुरक्षा के पूरे बंदोबस्त किये गए हैं। इस शाही स्नान पर भीड़ अनियंति्रत न हो उसके लिए आईजी भवेश कुमार और डीआईजी नवीन अरोड़ा के नेतृत्व में आठ कंपनी पीएसी ,एक आईजी व 30 डिप्टी एसपी अतिरिक्त भेजे गए हैं। 
राडवेज ने पहले तय किया था कि 4500 बसें ही बसंत पंचमी पर चलेंगी । लेकिन अब उस दिन मौन अमावस्या की तरह ही 6000 बसें ही चलेंगी। रोडवेज ने इस दिन बस अडडे पर मजिस्ट्रेट के तैनाती की मांग की है।

रेलवे ने अतिरिक्त ट्रेनों के अलावा अतिरिक्त काउंटर ,अतिरक्त पुछ ताछ केंद्र ,किसी भी सूरत में प्लेटफार्म न बदले जाने का निर्णय ,प्रयाग और प्रयाग घाट स्टेशनों पर तीस अतिरिक्त टिकट खिड़की ,पांच अतिरिक्त पूछ ताछ केंद्र ,यात्री सूचना केंद्र ,खोया पाया काउंटर व अमानती सामान घर आदि की व्यवस्था की है।
आशा करते हैं कि इस बार का स्नान पर्व सकुशल निपट जाएगा।काश मौनी अमावस्या पर ऐसी तैयारी होती।

Add comment

We welcome comments. No Jokes Please !

Security code
Refresh

Magh Mela 2014

Who's Online

We have 1216 guests online
 

Visits Counter

749179 since 1st march 2012