Friday, November 24, 2017
User Rating: / 0
PoorBest 
vlcsnap-2013-09-06-18h02m56s241 
इलाहाबाद|  इलाहाबाद पुलिस ने मेजा इलाके में दो तस्करों से दो सौ साल से ज्यादा पुरानी ब्रिटिश काल की जादुई बोतल बरामद की है। पकड़े गए तस्कर इस खाली बोतल का सौदा दो लाख रूपये में करने वाले थे इस दौरान पुलिस को मुखबिरों से मिली सूचना के बाद पुलिस ने दोनों तस्कर को बोतल सहित गिरफ्तार कर लिया है। जानकार बताते हैं की बोतल की अपनी खासियत है इसके अलावा इसका पुरातात्विक महत्त्व भी है जिसकी वजह से अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार में इसकी कीमत पांच लाख से ज्यादा हो सकती है । 
 
 vlcsnap-2013-09-06-17h58m18s201
 दो सौ साल से ज्यादा पुरानी इस बोतल को जब पुलिस ने तस्करों से बरामद किया तो ये पूरे मेज इलाके में ये चर्चा का विषय बन गयी, लोगो में चर्चा थी की ये जादुई बोतल है। बोतल की खासियत ये है धूप में इसका वाटर लेवल अपने आप बढ़ने लगता है और सात से आठ मिनट में वाटर लेवल तीन से चार सेंटीमीटर खुद बा खुद बढ़ जाता है। .इस अनोखी बोतल पर ईस्ट इंडिया कंपनी 1808 लिखा है जो बोतल के अन्दर की दूसरी सतह पर छपा है। .बैरहाल इलाहाबाद पुलिस इस बोतल की बरामदगी को बड़ी उपलब्धि मान कर चल रही है। .बोतल का वजन तीन किलो के आस पास है ।  
बोतल की तस्करी करने वाले दोनों युवकों ने पूछताछ में अपना नाम अशोक और कमलेश बताया है दोनों बिहार के नालंदा जिले के रहने वाले हैं।  दोनों ने कबूल किया है कि यह बोतल उन्हें नालंदा के पुरातत्व विभाग से दूसरे चोरों ने उड़ा कर दी है और वो तीन दिन दिन से बोतल का सौदा करने के सिलसिले में मेजा में टिके थे। एक तस्कर उन्हें बोतल के दो लाख रूपये देने को तैयार था लेकिन इनकी मांग पांच लाख रूपये की थी अभी सौदा तय हो पता इसके पहले पुलिस ने छापा मारकर दोनों तस्करों को बोतल के साथ पकड़ लिया । 
 इस अनोखी बोतल को भले ही गाँव के लोग जादुई बोतल बता रहे हैं लेकिन विज्ञान के जानकार बताते हैं की दुनिया में ऐसी कई और बोतल मौजूद हैं जिनका आविष्कार किसी भी तरल पदार्थ को लम्बे समय तक निश्चित तापमान में तारोताज़ा रखने के लिए किया गया था और ब्रिटिश पीरिअड की होने के कारन इसका पुरातात्विक महत्त्व भी है लिहाजा इसकी कीमत का अनुमान लगाना मुशिकिल है ।  

 

Add comment

We welcome comments. No Jokes Please !

Security code
Refresh

Miscellaneous

Who's Online

We have 1881 guests online
 

Visits Counter

750931 since 1st march 2012