Friday, November 24, 2017
User Rating: / 0
PoorBest 

DSC 7410

इलाहाबाद । इलाहाबाद व उसके आस पास के जिले में बाढ़ का पानी निकलने के बाद अब महामारी का खतरा बड गया है ।  गंगा यमुना दोनों नदियों में आई बाढ़ का पानी अब कम हो गया है । जिन इलाको में बाढ़ आ गई थी उन इलाको में बाढ़  महामारी का खतरा बड गया है इलाहाबाद में आई बाढ़  की आफत ने ग्रामीण व शहर की आधी आबादी को अपनी चपेट में ले  था और अब गंगा यमुना दोनों नदियों में पानी का जल स्तर कम होगया है और शहर की आबादी वाली जगह से पानी निकलने के बाद गन्दगी का अम्बार सा लग गया है । जिसकी वजह से महामारी का खतरा बाद गया है । ,

 DSC 5713
इलाहाबाद में  गंगा और यमुना का पानी इस कदर शहर के अन्दर तक घुसा की सैकड़ों ऐसे परिवार जो आलिशान घरों में रहते थे उन्हें अपने घरों को छोड़कर प्रशासन के बनाये अस्थाई बसेरों में कई कई दिन बिताने पडे । अब जब इन नदियों का पानी धीरे धीरे कम होने लगा है तो एक बड़ी मुसीबत इन इलाकों में रहने वालों के लिए खड़ी हो गयी है । इन इलाकों में बाढ़ के बाद इस कदर गन्दगी पसरी है की वहां से लोगो का निकलना दूभर हो गया है । सडकों और घरों में कीचड पटा पड़ा है वही नालियाँ पूरी तरह से चोक होकर गन्दगी से बजबजा रही है । जिसकी वजह से लोगों को  उसी गन्दगी के बीच में नाक पर रुमाल लेकर निकलना  पड़ रहा है । लोगों में अब इसको लेकर महामारी फैलने का डर  सताने लगा है । लोगों का कहना है की पहले तो बाढ़ की वजह से वो परेशानी  हुए और अब पानी कम हुआ तो प्रशासन इन इलाकों में न तो कीटनाशक दवाओ का  छिडकाव ही कर रहा है और न तो घरों पीने लायक पानी ही उपलब्ध करवा पा रहा है । इसको लेकर लोगो में प्रसाशन के खिलाफ गुसा है ।  
DSC 6292
 
वही प्रशासन का कहना है की चूँकि बाढ़ का पानी हफ़्तों तक बाढ़ प्रभावित इलाकों में जमा था जिसकी वजह वहां गन्दगी फैली है और अब पानी कम हो रहा है इसलिए वहां पर लोगों के सामने मुसीबत है । प्रशासन इलाकों में लगातार दावा का छिडकाव करवा रहा है और वहां पर फैली गन्दगी को भी साफ़ करवाने में भी  जुटा है । अधिकारीयों का कहना है की फिलहाल महामारी जैसी कोई बात नहीं है । 

 

Add comment

We welcome comments. No Jokes Please !

Security code
Refresh

Miscellaneous

Who's Online

We have 1862 guests online
 

Visits Counter

750931 since 1st march 2012