Friday, November 24, 2017
User Rating: / 0
PoorBest 

 swaroop rani hospital 1swaroop rani hospital 2

इलाहाबाद। अब गंभीर रोगों जैसे अंग प्रत्यारोपण, कैंसर, ब्रेन टयूमर आदि का इलाज कराने के लिए एम्स या पीजीआई नहीं जाना पड़ेगा और न ही प्राईवेट अस्पतालों में इसके लिए लाखों रुपए खर्च करने पड़ेंगे। प्रधानमंत्री कार्यालय की मुहर लगने के बाद स्वरूपरानी में एम्स की तर्ज पर करीब 140 करोड़ की लागत से मल्टी सुपर स्पेशियलिटी रिसर्च सेंटर बनाने का काम शीध्र आरंभ होगा।

 

मोतीलाल नेहरू मेडिकल कालेज में एम्स की तर्ज पर इलाज की हर सुविधा मिलेगी तथा अत्याधुनिक लैब, कम्प्यूटर, कक्षा आदि की भी समुचित व्यवस्था की जाएगी। मेडिकल कालेज प्रशासन ने अगस्त माह में एसआरएन अस्पताल से सटे पीडब्लूडी विभाग की कालोनी में इस प्रोजेक्ट का प्रस्ताव भेजा था। मेडिकल कालेज प्रशासन द्वारा त्वचा रोग विभाग की अत्याधुनिक मशीने जैसे उर्मास्कोप, लेजर सीओटी, फोटोथेरेपी, नेत्र विभाग की मशीने जैसे लेसिक लेजर, टीबी एवं चेस्ट से संबंधित मशीनें जैसे आक्सीजन की पाइप लाइन, नान इन्वेसिव वेंटीलेटर, स्त्री एवं प्रसूति रोग से संबंधित मशीने जैसे आपरेटिंग लेप्रोस्कोप, असिथ विभाग की मशीनें जैसे डायथर्मी मशीन, कान नाक गला से संबंधित लेजर मशीन तथा सर्जरी से संबंधित न्यूरो एंडोस्कोप, आपरेटिव माइक्रोस्कोप, क्यूसा मशीन आदि की मांग की थी।

मोतीलाल नेहरू कालेज के प्राचार्य डाक्टर एस पी सिंह का कहना है कि इस प्रोजेक्ट का पास होना उनके लिए एक स्वप्न के साकार होने जैसा है। इससे न केवल मरीजों को अच्छी सेवा मिल पाएगी अपितु विधार्थियों को भी काफी सुविधाएं मिल जाएंगी जिससे वे भविष्य में मरीजों का अच्छा उपचार कर सकेंगें। खुशी की बात यह है कि अब किसी को पीजीआई और एम्स जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी और यही पर सारा इलाज हो जाएगा।

Add comment

We welcome comments. No Jokes Please !

Security code
Refresh

Miscellaneous

Who's Online

We have 1387 guests online
 

Visits Counter

750929 since 1st march 2012