Friday, November 24, 2017
User Rating: / 0
PoorBest 

  


श्रीहरिकोटा : अमेरिका के ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम (जीपीएस) के अनुरूप रीजनल नैविगेशन सिस्टम स्थापित करने के उद्देश्य से भेजे जाने वाले सात सैटलाइटो की सीरीज 'इंडियन रीजनल नैविगेशनल सैटलाइट सिस्टम' (IRNSS) के तीसरे उपग्रह IRNSS 1C का बुधवार देर रात 1 बजकर 32 मिनट पर श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से सफल प्रक्षेपण किया गया।

इसरो का पीएसएलवी सी26 श्रीहरिकोटा से अपने साथ नैविगेशन सैटलाइट IRNSS 1C को लेकर रवाना हुआ। पीएसएलवी सी26 ने कुल 1,425 किग्रा वजन वाले नैविगेशन सैटलाइट IRNSS 1C को उसकी निर्दिष्ट कक्षा में सफलतापूर्वक स्थापित कर दिया। पूर्व में इसे 10 अक्टूबर को तड़के एक बज कर 56 मिनट पर भारतीय रॉकेट पीएसएलवी C26 की 28 वीं उड़ान से प्रक्षेपित किया जाना था। लेकिन तकनीकी कारणों के चलते प्रक्षेपण की तारीख आगे बढ़ा दी गई।

 



इसरो ने अमेरिका के ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम के अनुरूप क्षेत्रीय नैविगेशन सिस्टम स्थापित करने के उद्देश्य से सात उपग्रहों की सीरीज भेजने का फैसला किया है। 'इंडियन रीजनल नैविगेशनल सैटलाइट सिस्टम' (IRNSS) सीरीज के पहले दो उपग्रह IRNSS 1A और IRNSS 1B का प्रक्षेपण क्रमश: एक जुलाई 2013 को और इस साल 4 अप्रैल को श्रीहरिकोटा से किया गया था।

 

साभार: नव भारत टाइम्स

 

 

 

 

Miscellaneous

Who's Online

We have 2470 guests online
 

Visits Counter

750933 since 1st march 2012