Tuesday, November 21, 2017
User Rating: / 0
PoorBest 

  

 


दुनिया की टॉप इलेक्ट्रॉनिक्स जापानी कंपनी सोनी अपनी आर्थिक स्थिति में सुधार के लिए विडियो गेम प्लेस्टेशन पर बाजी लगाएगी। यह कंपनी की तीन वर्षीय फाइनैंशल योजना में शामिल है। कंपनी को उम्मीद है कि प्लेस्टेशन ब्रैंड से कंपनी लाभ की स्थिति में पहुंच जाएगी। अपनी कॉर्पोरेट स्ट्रैटिजी मीटिंग में सोनी ने घोषणा की कि सोनी ग्रुप के विभिन्न डिविजन को ऑटोनॉमी दी जाएगी। कंपनी ने यह कदम 2017 वित्त वर्ष के दौरान करीब 250 अरब रुपये की कमाई के टारगेट को हासिल करने के लिए उठाया है।


सोनी के हर बिजनस को अलग-अलग कैटिगरी में बांटा जाएगा, जो इस तरह से हैं: ग्रोथ ड्राइवर, स्टेबल प्रॉफिट जनरेटर या एरिया फोकसिंग ऑन वोलैटिलिटी मैनेजमेंट। गेम ऐंड नेटवर्क सर्विसेज बिजनस जिसमें प्लेस्टेशन शामिल है, ग्रोथ ड्राइवर्स कैटिगरी में आता है यानी प्लेस्टेशन कंपनी उस बिजनस में आता है, जो कंपनी की ग्रोथ बढ़ाने में सहायक है। इस कारण सोनी का इरादा प्लेस्टेशन कंसोल्स और प्लेस्टेशन नेटवर्क की रीच बढ़ाने का है।

वहीं, सोनी के टीवी और मोबाइल कम्यूनिकेशन बिजनस को वोलैटिलिटी मैनेजमेंट की कैटिगरी में रखा गया है यानी कंपनी के लिए यह बिजनस लाभप्रद नहीं है। कंपनी के सीईओ काजुओ हिराई ने बताया कि वह इन बिजनस से पैर खींचने की संभावना को खारिज नहीं कर सकते हैं। सोनी के सीईओ के इस बयान को यह संकेत माना जाता है कि कंपनी घाटे में चल रही इन युनिट्स के लिए सही पार्टनर्स की तलाश में है और पार्टनर्स मिलते ही कंपनी इन यूनिट्स से छुटकारा हासिल करेगी।

 

सोनी ने हाल ही में घोषणा की थी कि वह स्मार्टफोन डिविजन में 2,100 एंप्लॉयीज को हटाएगी। कंपनी का कहना है कि वह ग्रोथ के लिए 4 मुख्य क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करेगी। वे 4 क्षेत्र हैं प्लेस्टेशन डिविजन, सोनी पिक्चर्स, सोनी म्यूजिक और इसका डिवाइस बिजनस जिसमें कैमरा सेंसर शामिल हैं।

 

साभार: नव भारत टाइम्स

 

 

 

 

Miscellaneous

Who's Online

We have 1748 guests online
 

Visits Counter

749686 since 1st march 2012