Tuesday, November 21, 2017
User Rating: / 0
PoorBest 

 

चंडीगढ़ : बेमौसम बारिश से फसलें बर्बाद होने की वजह से जो किसान आत्महत्या कर रहे हैं, वे हरियाणा के कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ की नजरों में कायर हैं और सरकार ऐसे लोगों के साथ खड़ी नहीं हो सकती। उनके इस बयान पर कांग्रेस ने हमला बोला है। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अशोक तंवर ने कहा कि हाल में किसानों की आत्महत्या के जो मामले आए हैं, वे दुर्भाग्यपूर्ण हैं और राज्य सरकार की उदासीनता से समस्या बढ़ रही है।

धनखड़ ने मंगलवार को अपने ऑफिस में पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा, 'भारतीय कानून के हिसाब से आत्महत्या अपराध की श्रेणी में आती है। कोई भी आत्महत्या करने वाला शख्स अपनी जिम्मेदारी का बोझ अपनी पत्नी और अबोध बच्चों पर डाल जाता है। जो आत्महत्या करते हैं, वे कायर होते हैं और सरकार जैसी संस्था किसी अपराधी या कायर के साथ खड़ी नहीं हो सकती।'

हरियाणा के कृषि मंत्री ने दिल्ली की आम आदमी पार्टी की सरकार को निशाने लेते हुए कहा, 'यह बड़े अफसोस की बात है कि हाल ही दिल्ली में एक राजनीतिक दल ने तो एक किसान का राजनीतिक मर्डर करवा दिया। यह कैसे संभव है कि जहां एक राज्य का मुख्यमंत्री, पूरी सरकार और हजारों की संख्या में लोग तथा पुलिस फोर्स तैनात हो, वहां कोई व्यक्ति आत्महत्या कर ले।'

कृषि मंत्री के इस बयान पर विरोधियों की तीखी प्रतिक्रिया आनी शुरू हो गई है। कांग्रेस नेता अशोक तंवर ने कहा कि किसान फसल बर्बाद होने और कर्ज से परेशान हैं और वह किसानों को कायर बता रहे हैं।

इससे पहले हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने किसानों को 10 हजार करोड़ रुपये के ब्याज रहित ऋण दिलाने का फैसला लिया था। इन ऋणों की ब्याज राशि का खर्च प्रदेश सरकार वहन करेगी। चार प्रतिशत की ब्याज दर पर किसानों को बैंकों द्वारा यह ऋण दिए जाते हैं।

 

साभार: नव भारत टाइम्स

 

 

 

 

Miscellaneous

Who's Online

We have 1786 guests online
 

Visits Counter

749686 since 1st march 2012