Wednesday, November 22, 2017
User Rating: / 0
PoorBest 

 

 

 

 

prince williams

करीब 200 साल तक भारतीयों को गुलाम बनाकर रखने वाले बि्रटेन को इस बात का अंदाजा भी नहीं रहा होगा कि उनके फ्यूचर किंग के डीएनए में इसी देश का अंश होगा। डयूक आफ कैंबि्रज प्रिंस विलियम के डीएनए टेस्ट के रिजल्टस की मानें तो प्रिंस विलियम इंडियन ओरिजिन के हैं। दरअसल प्रिंस विलियम की मां लेडी डायना की फैमिली मेंबर एलिजा केवार्क हाफ इंडियन थीं और माना जाता है कि वह भारत के वेस्टर्न रीजन में रहती थीं।


लंदन। ष्डय़ूक ऑफ कैम्ब्रिजष् यानी प्रिंस विलियम ब्रिटेन के ऐसे भावी राजा हैंए जिनके जेनेटिक लिंक भारत से जुड़े हैं। उनके छोटे भाई प्रिंस हैरी में भी भारतीय खून के अंश हैं। एक डीएनए परीक्षण से इस तथ्य का खुलासा हुआ है। ब्रिटेन की राजगद्दी के दोनों उत्तराधिकारियों के ननिहाल की तरफ से भारत से रिश्ते उजागर हुए हैं। एडिनबर्ग विश्वविद्यालय के अनुवांशिकी विशेषज्ञ जिम विल्सन और ष्ब्रिटिशन्स डीएनएष् नाम के एक संगठन ने प्रिंस विलियम के एक रिश्तेदार के लार का परीक्षण करके यह नतीजा निकाला। हांलाकि उन्होंने यह जानकारी नहीं दी कि किस रिश्तेदार ने परीक्षण के लिए अपने लार का नमूना दिया है। हालांकि जब शोधकर्ता ननिहाल शब्द का इस्तेमाल कर रहे हैं तो जाहिर है कि दोनों शाहजादों के रिश्ते के किसी नानी या मौसी ने ही सैंपल दिए होंगे। शोधकर्ताओं ने डीएनए का मामला दोनों राजकुमारों की मां प्रिंसेस डायना से जोड़ा है। इसे ऐसे समझा जा सकता है। प्रिसेंस डायना की नानी रुथ गिल ;1908.1993द्ध थीं। रुथ की नानी जेन क्रोबी ;1843.1917द्ध थीं। इन जेन क्रोबी की नानी थीं एलिजा कीवार्क ;1790द्धए जिन्हें आधा भारतीय मानते हुए शोधकर्ताओं ने प्रिंस विलियम और हैरी से उनके रिश्ते जोड़े हैं।

शोधकर्ताओं का कहना है कि प्रिंस विलियम के शरीर में भारतीयों में पाए जाने वाले खास तरह के ष्माइटोकांड्रियल डीएनएष् है। इस डीएनए की खास बात यह है कि यह किसी भी बच्चे को अपनी मां से मिलता है। यह पिता से बच्चे तक नहीं जाता। इसी वजह से यह डीएनए प्रिंस विलियम और प्रिंस हैरी तक ही रहेगा। 

शोधकर्ताओं का कहना है कि एलिजा ने स्काटलैंड के एक व्यापारी थियोडोर फार्ब्स से शादी की थी और उन दोनों की बेटी का नाम कैथरिन स्कॉट था। थियोडोर ने बाद में अपनी पत्नी को छोड़ दिया और वह ब्रिटेन वापस लौट गया। ब्रिटेन लौटने के रास्ते में 1820 में जहाज पर ही थियोडोर का निधन हो गया। उसने अपनी वसीयत में एलिजा को अपना हाउसकीपर बताया था। मरने से पहले थियोडोर ने अपनी छह साल की बेटी कैथरिन को ब्रिटेन भेज दिया था। कैथरिन ने जेम्स क्राम्बी से शादी की और उनकी बेटी जेन ने डेविड लिटिलजान से शादी की। जेन की बेटी रुथ ने विलियम गिल से शादी की। रुथ की बेटी फ्रांसीस रुथ ने ष्अर्ल आफ स्पेंसरष् ;अष्टमद्ध से शादी की जो प्रिंसेस डायना के पिता थे। इस तरह एलिजा का ष्मिटोकोंड्रियल डीएनएष् प्रिंसेस डायना के जरिये ब्रिटेन की शाही परिवार तक पहुंचा और अब डीएनए दोनों राजकुमारों में है। 

ष्ब्रिटिशन्स डीएनएष् की एक विज्ञप्ति में कहा गया हैए ष्हमारा विश्वास है कि हमने जो सबूत एकत्रित किएए उससे पता चलता है कि मां की ओर से उसके आनुवांशिक अंश भारतीय थे। एलिजा के अम्रेनियाई होने का भी दावा किया गया है और यह दावा संभवतरू इसलिए किया गया क्योंकि उसका उपनाम केवार्क अम्रेनिया के नाम केवोर्क से मिलता जुलता है और उसने फोर्ब्स को खत लिखे वह भी अम्रेनियाई लिपी में थे। इससे यह अंदाजा लगाया गया है कि संभव है कि उनके पिता अम्रेनियाई मूल के रहे हों। 

विज्ञप्ति में कहा गया है कि राजकुमार विलियम और हैरी में एलिजा केवार्क के आनुवांशिक अंश हैंए लेकिन वह इस भारतीय एमटीडीएनए को अपने बच्चों में नहीं पहुंचा पाएंगेए क्योंकि एमटी डीएनए केवल मां से ही उसके बच्चों में जाता है।

इस खुलासे से पता चलता है कि एलिजा के बच्चों के स्काटिश पिता ने उसे अचानक क्यों छोड़ दिया और उनकी पुत्री कैथरीन को छह वर्ष की आयु में ब्रिटेन भेज दिया। कैथरीन के जरिए परिवार की बेल बढ़ी और विलियम एवं हैरी की मां डायना उसी कैथरीन की वंशज थीं।

 

 

 

 

Add comment

We welcome comments. No Jokes Please !

Security code
Refresh

Miscellaneous

Who's Online

We have 2850 guests online
 

Visits Counter

750265 since 1st march 2012