Saturday, November 25, 2017
User Rating: / 11
PoorBest 

  


अपने आप में एक तहजीब को समेटे हुए है अनारकली सूट। नाम से ही पता चलता है कि अनारकली सूट अनारकली के नाम पर पड़ा है। अनारकली मुगल सम्राट जल्लालुद्दीन अकबर के दरबार में नृत्य करने वाली एक नृत्यांगना थी। अनारकली का खास जिक्र इतिहास में नहीं मिलता है। परंतु कहते हैं कि वह इतनी खूबसूरत थी कि उसकी तुलना किसी से भी नहीं की जा सकती। हां अनारकली के गालों की तुलना अनार की कली से की जाती थी ।


अनारकली का नाम सुनते ही हमारे दिमाग में जो छवि बनती है वह है अभिनेत्री मधुबाला की। भारत में अनारकली पर दो फिल्में बनी हैं एक अनारकली और दूसरा मुगल ए आजम। परंतु मुगल ए आजम में मधुबाला ने अनारकली का किरदार निभाकर अनारकली और अनारकली सूट दोनों को अमर कर दिया। मधुबाला ने मुगल ए आजम में जो सूट पहना था उसे ही अनारकली सूट कहते हैं।

नतृकी अनारकली का नाम कुछ और था। सम्राट अकबर ने उसे अनारकली का नाम दिया था। अनारकली को देखते ही शहजादे सलीम को उससे पहली नजर में ही प्यार हो गया। जब शहंशाह अकबर को पता चला कि सलीम जिसे प्रेम करते हैं उसकी रगों में शाही खून नहीं है बल्कि वह एक नतृकी है तो उन्होने अनारकली को दीवार में चुनवा दिया और सलीम तथा अनारकली की कहानी प्रारंभ होने से पहले ही खत्म हो गई। परंतु आज का विषय अनारकली नहीं अनारकली सूट है परंतु अनारकली के जिक्र के बगैर अनारकली सूट का जिक्र अधूरा होता है। अब हम आज का असली मुद्दा अनारकली सूट की बात करेंगे।


अनारकली द्वारा पहना गया सूट अनारकली सूट कहलाता है। अनारकली सूट का फैशन कभी पुराना नहीं होता। समय के साथ साथ अनारकली सूट में भी बदलाव होता रहा। मधुबाला ने मुगल ए आजम में जो अनारकली सूट पहना था वह पूरी बांही का था आज अनारकली सूट स्लीवलेस बन रहा है। पहले अनारकली कुर्ते की लंबाई ज्यादा ही होती थी लेकिन आजकल छोटी भी बन रही है।

अनारकली सूट हमेशा से ही चल रही है लेकिन कहा जाता है कि पहले यह केवल एक समुदाय की महिलाओं द्वारा ही पहना जाता था। 1960 में मुगल ए आजम बनने के बाद लड़कियों में अनारकली सूट का चलन बढ़ा। परंतु तब आज की तरह लड़कियां सूट नहीं अन्य लिबास ज्यादा पहनती थीं जैसे साड़ी, लहंगा कुर्ता इत्यादि। उस जमाने की फैशन परस्त लड़कियों ने अनारकली सूट के फैशन को हाथों हाथ लिया और यह फैशन चल निकला। अनारकली सूट की एक खासियत है यह किसी भी मौके पर पहनी जा सकती है। यह सूट लड़कियां पहनती तो थीं लेकिन मुगल ए आजम के रंगीन होने के बाद सन् 2012 से तो यह क्रेज बन गया है। आज शायद ही किसी महिला की अलमारी में अनारकली सूट न हो। अनारकली सूट में सबसे अहम है कुर्ते की फिटिंग। कुर्ता की लंबाई आप अपनी पसंद से चुन सकती हैं लेकिन इस समय फ्लोर  लेंथ या लांग अनारकली का ट्रेंड चल रहा है।

जैसा कि हम सब जानते हैं कि अनारकली सूट हर अवसर पर पहना जाता है। कोई विशेष अवसर न हो तो भी महिलाएं आजकल घर पर ही अनारकली सूट पहनती हैं। विशेष अवसर पर तो अनारकली सूट पहनना आवश्यक हो जाता है। अनारकली सूट कैजुअल सूट के तौर पर भी पहना जा सकता है जैसे काॅटन अनारकली। इसे पहनकर आप घर पर रह सकती हैं, कालेज, ऑफिस या सहेली के घर जा सकती हैं। सिल्क अनारकली पहनकर आप ऑफिस, कालेज या पड़ोस के किसी फंक्शन में जा सकती हैं या फ्रेंड्स की बर्थडे पार्टी में सबसे अलग दिखना हो तो सिल्क अनारकली आपके लिए परफेक्ट है।


ब्राइडल अनारकली शादी के अवसर पर दूलहन पहनती है। इन सूटों पर खास एम्ब्रायडरी, जरी और स्टोन के काम होते हैं। ऐसे सूट हर दुलहन शादी के किसी न किसी अवसर पर अवश्य पहनना चाहती है जैसे मेहंदी, संगीत इत्यादि। अब दुलहन तो शादी में ब्राइडल अनारकली पहनेगी और आप शादी अटेंड करने जाएंगी पार्टी वियर अनारकली पहनकर।

आपका फिगर जैसा भी हो आप अनारकली पहन सकती हैं। अगर आप दुबली हैं तो भारी अनारकली सूट न पहनें। यूं तो अनारकली में कमर के ऊपर का हिस्सा टाईट फिटिंग होता है और कमर के नीचे का हिस्सा घेरदार। पर अगर आप ज्यादा दुबली हैं तो बहुत ज्यादा टाईट फिटिंग सूट न पहनें, स्लीवलेस अनारकली से बचें। घेर अपनी पसंद का रखें। अगर आप हेवी हैं तो ऊपर से सूट की फिटिंग अच्छी होनी चाहिए और नीचे से घेर कम हो। फुल स्लीव सूट हो तो अच्छा। अनारकली सूट की खासियत है कमर के  ऊपर का हिस्सा फिटिंग होता है और कमर के नीचे के हिस्से में बहुत सारी कलियां अर्थात प्लेट होती हैं। इसमें 16 से अधिक कलियां हो सकती हैं। फिगर के अनुसार सोच समझकर कलियां डलवाएं।


बालीवुड में मुगल ए आजम बनने के बाद से ही अनारकली सूट का फैशन चल पड़ा। मुगल ए आजम के बाद भी कई हिंदी फिल्मों में अनाररकली सूट में अभिनेत्रियों को देखा गया है और आज भी देखा जा सकता है। फिल्म के बाहर नीजी जिंदगी में भी अभिनेत्रियां अनारकली सूट पहनना बहुत पसंद करती हैं चाहे वह माधुरी दीक्षित हों अथवा सुष्मिता सेन या ऐश्वर्या, करीना, अनुष्का या सोनम इत्यादि सभी इस सूट को पहनती हैं। ऐश्वर्या राय बच्चन ने कांस फिल्म फेस्टिवल में इसे पहना था। विद्या बालन भी अक्सर अनारकली में दिखती हैं।


मुगल भी विदेशी आक्रमणकारी ही थे। परंतु उन्होने भारत को अपना देश मान  लिया था। उन्होने हमें बहुत कुछ दिया है। जिनमें अनेक प्रसिद्ध इमारतें हैं। कुछ न भी दिया होता तो एक ताज महल ही बहुत था। लेकिन इसके अलावा उन्होने मुगलिया तहजीब, खान पान, इत्यादि बहुत कुछ दिया। साथ में दिया अनारकली सूट का तोहफा। आज हर डिजायनर अनारकली सूट की नई डिजायनर रेंज निकाल रहा है। लड़कियां डिजायनर अनारकली के लिए हजारों रूपए खर्च कर देती हैं। यदि आप इतने महंगे डिजायनर अनारकली नहीं खरीद सकती हैं तो चिंता न करें स्वयं अपनी पसंद की अनारकली अपने टेलर से बनवा सकती हैं। समय के साथ साथ अनारकली सूट का फैशन बदला है और बदलते वक्त के साथ साथ इसमें और बदलाव आएगा लेकिन इसका क्रेज कभी पुराना नहीं होगा।

 

 

 

women empowerment

Who's Online

We have 1387 guests online
 

Visits Counter

751045 since 1st march 2012