Friday, November 24, 2017
User Rating: / 0
PoorBest 

नवरात्र में कैसे दें महंगाई को मात

नवरात्र आने वाला है और आपको खर्चों का अंबार दिख रहा है।आपको खुशी भी मनानी है और देखना है कि परिवार भी हर्षोल्लास के साथ नवरात्र मनाए। महंगाई सर चढ़कर बोल रही है। इस हालत में गृहिणी करे तो क्या करे।नवरात्र में देवी को घर लाना है, नौ दिन व्रत भी रखना है, बड़ों के लिए न हो तो भी बच्चों के लिए नया कपड़ा सिलवाना है और घर को भी चमकाना है।


घर को चमकाने के लिए घर की सफाई होना बहुत जरूरी है। रंग रोंगन तो दिपावली में होता है। अब आपको सोचना है कि कम खर्चे में नवरात्र पर घर को नया लुक कैसे दिया जाए। घर की साफ सफाई जैसे जाला झाड़ना, साबुन पानी से खिड़की दरवाजे धोना, फर्श को साफ करना तो आप कर ही लेंगी लेकिन घर में नयापन लाना भी जरूरी है।
पहले घर के पर्दों को लें। पुराने पर्दे पर ही पाईपिग लगाकर आप उसे नया लुक दे सकती हैं। अगर पर्दे हल्के रंग के हैं तो मैचिंग गहरे रंग की पाईपिंग लगाएं, पर्दे गहरे रंग के हैं तो मैचिंग हल्के रंग की पाईपिंग लगाएं । फ्रंट डोर पर एक अच्छा सा कलरफुल स्टिकर लगाएं। ड्राईंग रूम में फर्नीचर की पोजीशन बदल दें। कुशन और दीवान का कवर बदलें। सोफे पर कपड़े का कवर हो तो बदल दें। कवर बदल दें का मतलब नया कवर खरीदने से नहीं है, घर में पड़ा दूसरा सेट इस्तेमाल करें। अगर घर में एकस्ट्रा डेकोरेशन पीस है तो डाªईंग रूम के डेकोरेशन पीस बदल दें। अगर एकस्ट्रा नहीं हैं तो मौजूदा डेकोरेशन पीस की जगह बदल दें।कमरे में हो सके तो एक दो इनडोर प्लांट लगाएं। कमरे में हरियाली रहेगी तो कमरा खिल उठेगा।
बेडरूम में बेडशीट,बेडकवर और पिलोकवर बदल दीजिए। दिवार पर एक आध पेंटिंग लगा दें।फूलों का गुलदस्ता जरूर बदलें।रूम फे्रशनर का प्रयोग अवश्य करें। बच्चों के कमरे में भी इसी तरह बच्चों की पसंद के अनुसार अदला बदली करके उसे नया लुक दें। बच्चों की अलमारी पर कार्टून का स्टिकर लगाएं। दिवारों पर उनके पसंद के प्लेयर्स के पोस्टर लगा दें। इस तरह आप घर की सजावट का खर्चा कम कर सकती हैं।
नवरात्र में आपकी बेटी नई चन्या चोली के लिए मचल रही होगी और चन्या चोली की कीमत आपके माथे पर पसीना ला रही है। चिंता न करें , आपकी साडि़यों में ऐसी साड़ी जरूर होगी जो भड़कीले रंगों और जरी वाली होने के कारण आप पहनती नहीं हैं। उसे काटकर बेटी के लिए नया और सुंदर चन्या चोली बनवा दें।
नौ दिन का व्रत तो आपको रखना ही है। फल , मिठाई पर ज्यादा खर्चा न करें। व्रत का खाना ऐसा बनाएं जो आपके साथ घर भर खा लें जैसे घर में दही जमाएं और आलू उबालकर कचालू बना लें। आप केवल कचालू खाएं , घरवालों के लिए कचालू के साथ पूरी या पराठा बना दें। कई तरह के सब्जी डालकर साबूदाने की खिचड़ी बनाइए। खुद भी खाएं और सबको खिलाएं। इसके अलावा लौकी का हलवा, पेठे की खीर, खीरा का रायता, कद्दू का हलवा इत्यादी आपके साथ घर भर खा सकते हैं। व्रत में थोड़ा बहुत फल खाना भी जरूरी है, अपनी हैसियत के अनुसार मौसमी फल खाएं। बच्चों को दशहरा मेला घूमाने ले जाएं पर चाट घर पर बनाकर खिलाएं। पौष्टिक के साथ महंगा भी कम होगा।
सबसे बड़ी बात आप यह कभी न सोचें की आप पैसे की कमी के कारण कटौती कर रही हैं। बल्की यह सोचें कि बढ़ती महंगाई के साथ ही कम खर्च में आप खुशहाल नवरात्र बिता रही हैं इससे घरवालों की तारीफ भी आपको मिलेगी।

Add comment

We welcome comments. No Jokes Please !

Security code
Refresh

women empowerment

Who's Online

We have 2622 guests online
 

Visits Counter

750959 since 1st march 2012