Saturday, November 25, 2017
User Rating: / 0
PoorBest 

cold weather ahead

ठंड अभी शुरू नहीं हुई है। पंखा, फ्रिज का पानी सब कुछ चल रहा है पर प्रकृति यह अहसास दिला रही है कि अब गर्मी के जाने और सर्दी के आने का समय हो गया है। प्रकृति की यह अवस्था जितनी सुहावनी होती है अतनी ही खतरनाक भी। इस मौसम का स्वागत खुशी खुशी करने के लिए गृहिणियों को कुछ सतर्कता बरतनी होगी।


इस बदलते मौसम में बच्चों और बुजुर्गों का खास ख्याल रखना पड़ता है। उनके नहाने के पानी में थोड़ा सा गर्म पानी मिलाएं। नहाने के बाद तुरंत कपड़ा पहनने के लिए कहें। बुजुर्गों को फ्रिज का चिल्ड पानी न दें। फ्रिज के पानी में थोड़ा सा सादा पानी मिलाके दें। यह सावधानी बच्चों और बुजुर्ग दोनों के लिए है। बुजुर्गों को समझाना आसान है। परंतु बच्चे बात मानते नहीं हैं खासकर स्कूल से लौटने के बाद और खेलकर आने के बाद लपककर फ्रिज का चिल्ड पानी पी लेते हैं। उन्हें रोकना पड़ेगा। उन्हें रोकने के लिए आपको कुछ तरीका अपनाना पड़ेगा। उनके स्कूल से आने के पहले ताजे फल का रस बना लें और दस पंद्रह मिनट के लिए फ्रिज में रखें। उनके आने पर कहें कि आपने उनके लिए फ्रेश फ्रूट जूस बनाया है इसी प्रकार जब वह शाम को खेलने जाएं तो उनके लिए चाॅकलेट मिल्क या कोई स्वादिष्ट मिल्क मसाला मिलाकर दूध तैयार करके दस पंद्रह मिनट फ्रिज में रखकर लौटने के बाद उन्हें दें। बच्चों को स्वस्थ रखने के लिए आपको कुछ त्याग करना पड़ेगा। आप भी फ्रिज का ठंडा पानी न पिएं।
आजकल सर्दी के मौसम की सब्जियां मिलनी प्रारंभ हो गई हैं। पालक, गाजर, टमाटर का सूप बनाकर बच्चों और बुजुर्गों को रात में अवश्य दें। इस मौसम में स्ट्रीट फूड बिल्कुल नहीं देना चाहिए। बुजुर्गों और बच्चों को खुश रखने के लिए घर ही में थोड़ा स्वादिष्ट नाश्ता और व्यंजन बनाने पड़ेंगे।
रात को सोते समय पंखा तो चलेगा ही इसलिए उन्हें हल्का चद्दर जरूर ओढ़ाएं। दिवाली में बच्चे खुले में पटाखे तो छोड़ंेगे ही और मस्ती भी करेंगे इसलिए आप बच्चों को पूरी बांह का मोटा, टाईट काॅटन का कपड़ा पहनाएं और फुल पैंट भी। लड़कियों के विषय में भी ऐसा ही करें। दिवाली पर बच्चों के कपड़े खरीदते समय यह याद रखें। बुजुर्गों के लिए एक हल्का सूती शाॅल चल सकता है। यदि प्रत्येक गृहिणी इन बातों को याद रखंे तो उन्हें बदलते मौसम की मार को झेलना नहीं पड़ेगा।

Add comment

We welcome comments. No Jokes Please !

Security code
Refresh

women empowerment

Who's Online

We have 1482 guests online
 

Visits Counter

751045 since 1st march 2012