Thursday, November 23, 2017
User Rating: / 0
PoorBest 

loose weight

सिलम एवं टि्रम रहना किसे पसंद नहीं है। हर लड़की का सपना होता है सुदंर दिखना और इसके लिए सिलम फिगर का होना जरूरी है। युवावस्था तक आते आते लड़कियों में यह इच्छा प्रबल हो जाती है। जब कोई रास्ता नहीं दिखता तो डायटिंग करना प्रारंभ कर देती हैं। ज्यादातर युवतियां डायटिंग के दौरान दिन भर कुछ नहीं खाती रात को खाना खाती हैं लेकिन थोड़ा सा।

इस तरह डायटिंग करने से बहुत कमजोरी आ जाती है और शरीर में बीमारियां आसानी से अपना घर बना लेती हैं। जिसका असर बढ़ती उम्र के साथ नजर आने लगता है। युवतियां सिलम तो हो जाती हैं लेकिन सुंदर नहीं बन पातीं। चेहरे पर कमजोरी की छाया स्पष्ट दिखती है। आंखें के नीचे डार्क सरकल्स बन जाते हैं। चेहरा पीला पड़ जाता है। कुल मिलाकर वह अपनी उम्र से बड़ी दिखने लगती हैं।

सिलम फिगर पाने के लिए इस तरह खाना पीना छोड़ने की जरूरत नहीं है बलिक संतुलित भोजन लें। डायटिंग के दौरान घी,बटर, चीज, क्रीम,मलाई का सेवन न करें।टोन्ड मिल्क पीएं,मीठा,चावल, आलू, तेल कम खाएं।

डायटिंग का भोजन भी स्वादिष्ट बनना चाहिए। इस दौरान भोजन कम तेल मसाले का खाएं लेकिन उबला नहीं। बेक्ड फूड ज्यादा लें। बेक्ड फूड पर व्हाइट आयल से ब्रश करें बटर से नहीं। तंदूर में पका भोजन लें। भोजन भरपूर लें लेकिन सीरियल कम। हरी पत्तेदार सबिजयां, साग की सब्जी और सलाद खूब खाएं। सिट्रस फ्रूट लें लेकिन आम, केला नहीं। सेब अवश्य लें। इसके दो फायदे हैं - एक तो इसमें काफी कम कैलरी होती है दूसरा यह पेट के चारों ओर जमने वाले चर्बी को घटाती है।सुबह खाली पेट एक गिलास पानी में एक नींबू का रस और एक चम्मच शहद मिलाकर पीएं यह आपका वजन घटाने में मदद करेगा।

अगर मांसाहारी हैं तो डायटिंग के दौरान नाश्ते में एक उबला अंडा लें। यह आपकी कैलरी बर्न करता है। इसमें विटामिन, प्रोटीन तथा मिनरल भी भरपूर मात्रा में होता है। बिना तेल का मछली,चिकेन कम तेल में पका कर या गि्रल करके खा सकते हैं। चिकेन को बायल करके भी लिया जा सकता है। रेड मीट बिल्कुल न लें। केक, पेस्ट्री से परहेज करें। अगर आईसक्रीम खाने का मन हो तो टोन्ड मिल्क से घर पर बनाकर इसका आनंद लें। टोन्ड मिल्क की दही भी ले सकते हैं।

ड्राई फ्रूट में बादाम और अखरोट ले सकते हैं। सुबह शाम भीगे बादाम का सेवन करें। इससे खून में चीनी की मात्रा कम होती है। अखरोट भूख पर नियंत्रण रखती है। मसालों में हल्दी और दालचीनी खाना चाहिए।यह दोनों मसाले शरीर में जमा चर्बी कम करने में मदद करते हैं। दालचीनी खून में चीनी की मात्रा को कम करता है और ब्लड सरकूलेशन ठीक रखकर हमें फिट बनाता है। काफी पीने से भी आपका वजन घट सकता है। इससे भी कैलरी बर्न होती है। जमीन के नीचे पैदा होने वाली सबिजयां कम खाएं। इनमें कार्बोहाइड्रेट की मात्रा ज्यादा होने के कारण वजन बढ़ता है। पत्ता गोभी और फूल गोभी खूब खाएं। किसी भी रूप में पत्ता गोभी का सेवन करें अर्थात संतुलित भोजन की थाली में इसे अवश्य शामिल करें। पत्ता गोभी व फूल गोभी में कैलरी बहुत कम होता है तथा पत्ता गोभी में फैट बिल्कुल नहीं होता।

केवल खान पान में बदलाव ही वजन नहीं घटाता। इसके साथ योगा करें। जितना हो सके वाक करें। घर के अंदर चलना फिरना वाकिंग में शामिल नहीं होता । सबसे बेहतर है मार्निंग वाक पर जाना। जागिंग करें, पसीना बहाएं। यदि इसके साथ महीने में एक बार खान पान का रूल तोड़ना पड़े तो चल सकता है। युवावस्था में कदम रखते ही युवतियां ज्यादा फिगर कांशस हो जाती हैं।परंतु उन्हें याद रखना चाहिए कि आगे चलकर वही मां बनती हैं। फिगर बनाने के चक्कर में कहीं उनमें पोषण की कमी हो गई तो खामियाजा इन्हें और बच्चे को ही भुगतना पड़ेगा। फिगर बनाने की चाह स्वाभाविक है, बेहतर होगा खा पीकर वजन घटाएं।

Add comment

We welcome comments. No Jokes Please !

Security code
Refresh

youth corner

Who's Online

We have 2014 guests online
 

Visits Counter

750290 since 1st march 2012