Friday, November 24, 2017
User Rating: / 0
PoorBest 

multiskill person

पर्सनालिटी सिर्फ शारीरिक गुण से नहीं बल्कि आपके अंदर मल्टीस्किल विचार और व्यवहारों का समंदर भी है। आप तभी ये गुण प्रस्फुटित कर पाते हैं जब आपका विशेष नजरिया हो, सेल्फ कॉन्फिडेंस हो और आप हर समय पॉजिटिव एटीट्यूड से भरे हों। आप में डिसीजन लेने की क्षमता हो यानी आप लकीर के फकीर न हों बल्कि क्रिएटिव सोच के साथ आगे बढ़ने की कोशिश करने वाले हों। साथ ही, हमेशा अंदर कुछ नया ढूंढते हों। ये वे अहम बातें हैं जो आपको बनाती हैं मल्टीस्किल पर्सन। इन्हीं बिंदुओं पर एक नजर-

 

कैसे बनें मल्टीस्किल पर्सन

                वर्तमान में, किसी भी प्रोफेशन में हर समय तैयार रहने वाले मल्टीस्किल लोगों  की मांग बढ़ती जा रही है। कोई भी व्यक्ति सर्वगुण संपन्न नहीं होता और न ही हो सकता है। लेकिन थोड़ी-सी काबिलियत आपके जॉब प्रोफाइल को बेहतर बना सकती है। कंपनियों और कॉरपोरेट सेक्टर में ऐसे ही मल्टीस्किल प्रोफेशनल्स आज सफल हो रहे हैं। कंपनी में मल्टीस्किल प्रोफेशनल्स होने के कई फायदे हैं। यदि आप किसी कंपनी में मार्केटिंग प्रोफाइल के साथ दूसरा काम भी कर रहे हैं तो यह आपकी जॉब प्रोफाइल को बेहतर बना सकती है और किसी क्षेत्र का अलग-अलग ज्ञान आपको दूसरों से आगे ले जा सकता है।

जरूरी है डिसीजन मेकिंग पावर

                कहते हैं डिसीजन मेकिंग पावर अनुभव के साथ आती है परंतु वर्तमान में यह कहना गलत होगा क्योंकि कॉरपोरेट र्वल्ड में अलग-अलग स्तरों पर युवाओं से लेकर तजुब्रेकार तक महत्वपूर्ण निर्णय ले रहे हैं। निर्णय लेने में परिस्थितियों का अध्ययन और निर्धारित समय के भीतर निर्णय लेने की कला को विकसित करना होता है। ध्यान रहे कि खेल-खेल में स्वार्थसिद्धि के लिए कोई डिसीजन न लें। अगर आप विपरीत हालात का सामना करना सीखना चाहते हैं तो अपने हित में फैसला लीजिए कि किसी भी परिस्थिति में मैं ही क्योंके जवाब को दरकिनार कीजिए बल्कि आगे बढ़कर उस काम को करने की कोशिश कीजिए।

जरूरी है क्रिएटिव कोऑपरेशन

                दरअसल, क्रिएटिव कोऑपरेशन के माध्यम से कर्मचारी न केवल अपने टैलेंट को सही तरीके से सामने ला सकते हैं बल्कि कंपनी के भीतर मौजूद विभागों के बीच बेहतर तालमेल स्थापित कर सकते हैं। वे केवल नौकरी नहीं देतीं बल्कि वे आपकी जिंदगी को आगे बढ़ते देखना चाहती हैं। ऐसे में आप कंपनी के लिए दिल से काम करते हैं। जिस भी ऑफिस या माहौल में हों, अपने साथियों के साथ क्रिएटिव कोऑपरेशन बनाए रखें। इससे माहौल खुशनुमा होगा और आप काम को बेहतर ढंग से अंजाम दे पाएंगे।

जमाना इनोवेटिव मार्केटिंग का

                अब कस्टमर पहले से काफी ज्यादा स्मार्ट और समझदार हो गये हैं। ऐसे में, कंपनियों को अपने उत्पादों की मार्केट में मौजूदगी दर्ज कराने के लिए हर रोज नए इनोवेटिव तरीके अपनाने पड़ते हैं ताकि उपभोक्ताओं पर सीधा असर हो सके। अब केवल ब्रांड लॉयल्टी की बात नहीं होती बल्कि कंज्यूमर से सीधा कम्युनिकेशन कर प्रोडक्ट के बारे में जानना होता है। दरअसल, कंज्यूमर को अब केवल प्रोडक्ट बेचने और उन्हें अच्छी सर्विस देने भर की जिम्मेदारी नहीं है बल्कि अब उनसे लंबे समय तक रिश्ते जोड़ने और उनसे सुझाव मांगने के साथ उन्हें इस बात का अहसास भी करवाया जाता है कि यह प्रोडक्ट खरीदकर वे न केवल बेहतरीन कार्य करते हैं बल्कि यह स्मार्ट निर्णय कर आपने लंबे समय तक कंपनी से रिश्ता जोड़ा है।

करें बेहतर करियर प्लानिंग

                करियर प्लानिंग के लिए सबसे ज्यादा अहम है कि आपका इंट्रेस्ट किस क्षेत्र में है और उस क्षेत्र में रोजगार की कितनी गुंजाइश है। जो भी आप करना चाहते हैं और कर रहे हैं उसके प्रति आत्मविश्वास से भरे रहें और खूब मेहनत करें। ऐसे में, कामयाबी को डगर से कोई डिगा नहीं सकता।

साभार: राष्ट्रीय सहारा

Add comment

We welcome comments. No Jokes Please !

Security code
Refresh

youth corner

Who's Online

We have 1501 guests online
 

Visits Counter

750773 since 1st march 2012