Sunday, February 25, 2018
User Rating: / 0
PoorBest 

 3d show opening

आंचलिक विज्ञान नगरी, लखनऊ मेंएक नवीन 3डी शो ''स्पेस जंक का उदघाटन श्री आसिफ सिददीकी, प्रबंधक, इसरो टेलीमेट्री, ट्रेकिंग एंड कमाण्ड नेटवर्क, (इस्ट्रैक), लखनऊ द्वारा प्रो0 ए0के0शर्मा, विभागाध्यक्ष, जन्तुविज्ञान विभाग, लखनऊ विश्वविधालय, श्री एम0एस0 राणा, सहायक निदेशक, बेसिक शिक्षा विभाग तथा बड़ी संख्या में अतिथिगण, विधार्थीगण एवं अध्यापकों की उपसिथति म हुआ।

नवीन 3-डी फिल्म ''स्पेस जंक यह कहानी बताती है कि अंतरिक्ष में जाने के हमारे सपनों का आरम्भ होने के पचास साल बाद हमें कक्ष में घूमते हुए मलबों के बढ़ते हुए वलय के रूप मे एक संकट विरासत में मिला है, जिसका भविष्य में होने वाले अंतरिक्ष अन्वेषणों पर प्रतिकूल प्रभाव पडे़गा। ''स्पेस जंक रोचक, देखने योग्य तथा हमारी ज्ञानेनिद्रयों को उत्तेजित करने वाली यात्रा है जो प्राकृतिक व मानव निर्मित अन्तरिक्ष टकरावों का अनुभव प्रदान करती है। यह हमें उल्का पिण्डों द्वारा निर्मित दिल दहला देने वाली गहराइयों के गढढों से लेकर 36000 किमी0 निरन्तर बढ़ रही भीड़ वाले कक्ष के अभूतपूर्व के दृश्यों की यात्रा पर ले जाता है। यह इस दिशा में प्रथम 3-डी प्रदर्शन है जोकि हमें अंतरिक्ष में विस्तारित मलबे के बारे में जागरूक करती है जोकि हमारे ग्रह की कक्षाओं की सुरक्षा के लिए एक खतरनाक है। यह नवीन 3-डी प्रदर्शन दर्शकों को रोमांच और जादू से भरी 3-डी तकनीक की दुनिया में ले जाता है।

श्री आसिफ सिददीकी ने कहा कि कुछ चीजें जो ऊपर जाती है वो कभी-कभी नीचे जमीन पर नहीं आती है जिससे ''स्पेस जंक बनता है। जो चीजें अंतरिक्ष में छूट जाती है और दो उपग्रहों के टकराव से उत्पन्न मलवा स्पेस जंक के निर्माण का मुख्य कारण है। उपग्रहों का टकराव या पृथ्वी पर गिरना मानव जाति के हानिकारक है क्योंकि इससे लाखों करोड़ों का नुकसान या जनहानि होती है। जो उपग्रह जिनका इंधन खत्म हो जाता है वे भी अंतरिक्ष मलवे में शमिल हो जाते हैं। स्पेस जंक हमें खतरों की तरफ ले जा रहा है।

आंचलिक विज्ञान नगरी के परियोजना समायोजक श्री उमेश कुमार ने बताया कि आंचलिक विज्ञान नगरी में दर्शकों के लिए एक अनोखी सुविधा ''3डी शो है जिसमें उच्च गुणवत्ता की तथा विज्ञान एवं प्रौधोगिकी पर आधारित 3डी फिल्मों को स्टीरियो प्रोजेक्शन सिस्टम तथा विशिष्ट रूप से तैयार किये गये पोलराइज्ड चश्मों की सहायता से देखा जाता है। दर्शक इस शो में दृश्यों को देखकर रोमांचित हो उठते हैं और यह उत्तर प्रदेश में अपनी प्रकार का पहला 3डी हाल है। दर्शकों के लिए प्रतिदिन यहाँ कर्इ शो आयोजित किये जाते है जिससे कि दर्शक 3-डी की दुनिया तथा स्क्रीन से बाहर आती वस्तुओं को देखने से उपजने वाले रोमांच का अनुभव कर सकें।

 

Add comment

We welcome comments. No Jokes Please !

Security code
Refresh

youth corner

Who's Online

We have 2926 guests online
 

Visits Counter

783099 since 1st march 2012