Tuesday, November 21, 2017
User Rating: / 0
PoorBest 

science city

आंचलिक विज्ञान नगरी में उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के साथ आयोजित हो रहे पर्यावरणीय जागरूकता कार्यक्रम में आज ''क्या आप जलवायु परिवर्तन के लिए तैयार विषय पर एक लोकप्रिय विज्ञान व्याख्यान का आयोजन किया गया जिसे श्री उमेश कुमार, परियोजना समायोजक आंचलिक विज्ञान नगरी ने बड़े ही रोचक ढ़ग से प्रस्तुत किया। कार्यक्रम में लगभग 150 विधार्थियों तथा अभिभावकों ने भाग लिया।

उमेश कुमार जी ने अपने व्याख्यान में कम कार्बन वाली अर्थव्यवस्था को लागू करने तथा उसे बढ़ावा देने पर बल दिया साथ ही यह बताया कि अपनी भावी पीढ़ी को जीने के लिए एक स्वच्छ एवं हरित पर्यावरण प्रदान करने हेतु लोगों को अपने जीवन शैली में बदलाव लाना जरूरी। उन्होंने उन कारणों की व्याख्या की जो जयवायु परिवर्तन के लिए जिम्मदार हैं जैसे जीवाश्म र्इंधन, ग्रीनहाउस प्रभाव, वैशिवक ताप इत्यादि। उन्होंने विधार्थियों को जोकि भावी वैज्ञानिक, तकनीकि एवं देश के अच्छे नागरिक हैं उन्हें कुछ महत्वपूर्ण नुस्खे के साथ ही उन्हें प्रोत्साहित किया जैसा कि विधार्थियों और अभिभावकों को व्यकितगत तौर पर जलवायु परिवर्तन को रोकने के लिए कदम उठाने होगें। उन्होंने नहाने, प्रसाधन में, कार को धुलने, बागवानी, खाने पकाने पानी के किफायती रूप से प्रयोग करने को कहा। कार्बन उत्सर्जन कम करने, एक साथ कार से यात्रा कर ऊर्जा बचाने, वाहनों के अतिप्रयोग इत्यादि पर चर्चा की जिससे कि कार्बन उत्सर्जन को कम कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि इन छोटे समाधानों से बड़ी समस्यायें हल हो सकती हैं।

कार्यक्रम के अन्त में श्रीमती अर्चना सिंह ने समाज में पर्यावरण जागरूकता बढ़ाने वाली सम्बनिधत साहित्य सामग्री विधार्थियों एवं अभिभावकों को वितरित किया और उन्होंने जानवरों जैसे गिद्धों इत्यादि के विलुप्त होने के कारणों को भी बताया।

Add comment

We welcome comments. No Jokes Please !

Security code
Refresh

youth corner

Who's Online

We have 2736 guests online
 

Visits Counter

749687 since 1st march 2012