Tuesday, November 21, 2017
User Rating: / 0
PoorBest 

sheila dixit


महिलाएं चाहें तो क्या नहीं कर सकती। इस बात को सही साबित करने की दिशा में बहुत कोशिशें हो रही हैं। इसी कड़ी में अब महिलाओं का पहला टेकिनकल विश्वविधालय का नाम भी जुड़ गया।


दिल्ली की मुख्य मंत्री शीला दीक्षित ने देश में महिलाओं के लिए खुले पहले टेकिनकल विश्वविधालय का उदघाटन किया। इंदिरा गांधी वूमेन इन्सटिटयूट आफ टेक्नोलाजी का दर्जा बढ़ाकर दिल्ली सरकार ने इसे स्टेट यूनिवर्सिटी का दर्जा दे दिया है और इस तरह इस संस्थान को भारत में महिलाओं का पहला टेकिनकल विश्वविधालय बनने का श्रेय मिला।

श्रीमती दीक्षित ने गुरूवार को कहा कि यह किसी से सम्बद्ध नहीं है और यह शिक्षा और शोध विश्वविधालय है। महिलाओं में करियर से जुड़ी शिक्षा जैसे इंजीनियरिंग,टेक्नोलाजी,एप्लायड साइंसेस, मैनेजमेंट और इससे जुड़े क्षेत्रों में शिक्षा, शोध कार्य,तकनीकी,खोज को बढ़़ावा देने के लिए ही इस विश्वविधालय को खोला गया है।

श्रीमती दीक्षित ने यह भी कहा कि इस नये विश्वविधालय को महत्वपूर्ण भारतीय कंपनी और मलटीनेशनल में महिला इंजीनियरों की संख्या सुधारने में लंबा सफर तय करना है। महिलाओं में टेलेंट और बुद्धि है।कड़ी मेहनत करने में भी वह पीछे नहीं हटती फिर भी कंपनियों में महिला पेशेवरों की संख्या बहुत कम है केवल 15:। दिल्ली सरकार को भरोसा है कि यह विश्वविधालय जल्द ही दुनिया के अन्य महिला विश्वविधालयों में अपनी जगह बना लेगा।

श्रीमती शीला दीक्षित के अनुसार विश्वविधालय की 85:सीटें दिल्ली की लड़कियों के लिए है। उन्होने विश्वविधालय के एडमिशन ब्रोशियोर का विमोचन किया। दिल्ली के शिक्षा मंत्री एण्केण्वालिया ने इसकी वेबसाइट लांच की।

एण्केण्वालिया के अनुसार इन्फारमेशन सिक्यूरिटी, मोबाइल कम्प्यूटिंग,रोबोटिक्स तथा आटोमेशन एवं वीएलएसआई डिजायन के कोर्सेस के अलावा एमसीए, एमटेक और पार्ट टाइम कोर्सेस सभी को मिलाकर 480 लड़़कियों का दाखिला होगा।

इस विश्वविधालय का फायदा मुख्यत: दिल्ली की लड़कियों को ही मिलेगा।इस तरह के विश्वविधालय प्रत्येक राज्य में खुलने चाहिए तभी सब भारतीय लड़कियां इस शिक्षा को पाएंगी और अपने आप को योग्य बना सकेंगी।

Add comment

We welcome comments. No Jokes Please !

Security code
Refresh

youth corner

Who's Online

We have 2679 guests online
 

Visits Counter

749687 since 1st march 2012