Friday, November 24, 2017
User Rating: / 0
PoorBest 

degree

रिजल्ट आने के बाद प्रतिभा सम्पन्न नौजवान आर्थिक तंगी के कारण अपनी शिक्षा को आगे जारी रख पाने में नाकाम साबित होते हैं। ऐसी समस्या से परेशान युवाओं की मदद के लिए अब तेजी से सरकारी व गैर-सरकारी संस्थाएं सामने आई हैं। ये संस्थाएं छात्रवृत्ति व फैलोशिप से छात्रों की आर्थिक समस्या का समाधान करती हैं। यहां ऐसी ही राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्कॉलरशिप की जानकारी दी जा रही है।

 

सैंट्रल सैक्टर स्कीम ऑफ स्कॉलरशिप फॉर कालेज एंड यूनिवर्सिटी स्टूडैंट्स

उच्च शिक्षा के लिए युवाओं को बेहतर संसाधन मुहैया कराने और उनके कमजोर आर्थिक पक्ष को मजबूती प्रदान करने के मकसद से सी.बी.एस.ई. यह स्कॉलरशिप प्रदान करता है। मानव संसाधन एवं विकास मंत्रालय के माध्यम से उपलब्ध होने वाली यह स्कॉलरशिप 12वीं में अच्छे अंकों के साथ उत्तीर्ण होने वाले छात्रों को दी जाती है। इस स्कॉलरशिप के तहत ग्रैजुएशन की पढ़ाई के लिए 1000 रुपए प्रतिमाह और पोस्ट ग्रैजुएट व प्रोफैशनल पाठ्यक्रमों के लिए दो हजार रुपए प्रतिमाह दो साल के लिए प्रदान किए जाते हैं। ग्रैजुएशन स्तर पर प्रोफैशनल कोर्स करने वालों को तीसरे व चौथे साल दो हजार रुपए प्रतिमाह दिए जाते हैं।


आई.आई.एम.सी. यंग फैलोशिप इन साइंस

12वीं क्लास में टॉपर्स को यह फैलोशिप प्रदान की जाती है। इसके लिए बोर्ड, विश्वविद्यालय परीक्षा अथवा इसके समकक्ष परीक्षा में पहले 20 स्थानों पर आने वाले गणित विषय के स्टूडैंट्स को यह सहायता मिलती है। इसके अलावा यह सहायता इन स्टूडैंट्स को भारत में अपनी पसंद के कालेज व यूनिवर्सिटी में साइंस साइड में करियर बनाने के लिए प्रदान की जाती है।

 

द पॉल फाऊंडेशन स्कॉलरशिप

यह स्कॉलरशिप स्नातक स्तर की पढ़ाई, शोध और प्रशिक्षण हेतु दी जाती है। इसके विषय हैं-ह्यूमैनिटीज, एप्लाइड साइंस, मैडिसिन,लॉ, फाइन आर्ट्स, कम्युनिटी व सोशल मैनेजमैंट। यह भारत और विदेशों के विख्यात विश्वविद्यालय व संस्थानों में दाखिला पा चुके छात्रों को दी जाती है। इसके तहत 2 वर्ष तक प्रति वर्ष अधिकतम 15 लाख रुपए दिए जाते हैं।

 

ललित कला अकादमी स्कॉलरशिप

इस स्कॉलरशिप के तहत एक साल के लिए 2 हजार रुपए प्रतिमाह की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। इसके लिए आवेदक का 35 साल से कम उम्र होने के साथ-साथ कला जगत से जुड़ा कलाकार, कला समीक्षक, कला विशेषक व कला का जानकार होना जरूरी है।

राष्ट्रीय विज्ञान प्रतिभा खोज परीक्षा

छठी, सातवीं, आठवीं, नौवीं, दसवीं और ग्यारहवीं के छात्रों में से प्रतिभा संपन्न तथा योग्य छात्रों की तलाश कर उन्हें प्रोत्साहित करना ही इस परीक्षा का मूल उद्देश्य है। इसके तहत कुल 8 लाख रुपए तक के पुरस्कार छात्रों को प्रदान किए जाते हैं। यह पुरस्कार स्कॉलरशिप के रूप में होते हैं। विभिन्न कक्षाओं के लिए परीक्षा का आयोजन अलग-अलग वर्ग में किया जाता है। देश के पचास से ज्यादा प्रमुख शहरों में यह परीक्षा आयोजित की जाती है।

 

ओ.एन.जी.सी. स्कॉलरशिप

ओ.एन.जी.सी. की ओर से यह स्कॉलरशिप अनुसूचित जाति व जनजाति के छात्रों को प्रदान की जाती है। आवेदक का स्नातक, ग्रैजुएट इन इंजीनियरिंग, मास्टर डिग्री प्रथम वर्ष जियोलॉजी, एम.बी.ए. का छात्र होना अनिवार्य है। स्कॉलरशिप की कुल संख्या 75 रहती है जिसके तहत पहले व दूसरे साल में 12 हजार रुपए और तीसरे व चौथे साल में 18 हजार रुपए प्रदान किए जाते हैं।

 

अवार्ड फॉर जूनियर रिसर्च फैलोशिप

इंदिरा गांधी सैंटर फॉर एटॉमिक रिसर्च की ओर से प्रदान की जाने वाली यह फैलोशिप देश के युवाओं को रिसर्च के क्षेत्र में काम करने के लिए प्रदान की जाती है। इसके लिए आवेदक का एम.एस.सी.,बी.ई., बी.टैक, एम.ई., एम.टैक और बी.एससी, इंजीनियरिंग पास होना जरूरी है। इसके अलावा आवेदक की आयु 28 साल होनी चाहिए। इस सहायता के तहत योग्य रिसर्चर को 12 हजार रुपए मासिक प्रदान किए जाते हैं।

 

राजीव गांधी साइंस टैलेंट रिसर्च फैलोशिप

यह फैलोशिप विज्ञान विषय में भविष्य तलाश रहे युवाओं को प्रदान की जाती है। जवाहर लाल नेहरू सैंटर फॉर एडवांस साइंटिफिक रिसर्च की ओर से प्रदान की जाने वाली यह स्कॉलरशिप बी.ई., बी.एससी., बी.टैक, बी. फार्मा और एम.सी.ए. सैकेंड व थर्ड ईयर स्टूडैंट्स को प्रदान की जाती है। हर साल लगभग 75 स्टूडैंट्स का चुनाव किया जाता है। अवधि एक से दो साल होती है।

स्रोत – अमृत प्रभात

Add comment

We welcome comments. No Jokes Please !

Security code
Refresh

youth corner

Who's Online

We have 2964 guests online
 

Visits Counter

750775 since 1st march 2012