Sunday, November 19, 2017
User Rating: / 0
PoorBest 

kumbh-ki-jhalkiya
आज हम अपना 64वां गणतंत्र दिवस मना रहे हैं। आज ही के दिन सन 1950 में हमारा संविधान असितत्व में आया था। प्रत्येक भारतवासी के लिए आज का दिन अत्यंत शुभ है क्योंकि एक देश तभी गणतंत्र होता है जब वहां पूर्ण रूप से वंशानुक्रमिक राजतंत्र खत्म होता है अर्थात भारत अब किसी भी रूप में किसी भी विदेशी देश अथवा शकित का गुलाम नहीं रहा। इस दिन को हम सभी मनाते हैं परंतु इस बार कुंभ क्षेत्र में गणतंत्र दिवस का अनोखा रंग देखने को मिला।

sdhuon ne fehraya tiranga
साधूओं ने फहराया तिरंगा -
दिल्ली में जहां गणतंत्र दिवस परेड का कुछ अलग ही समां होता है , वहीं कुंभ क्षेत्र में अनगिनत साधू , संत ,श्रद्धालुओं ने तिरंगा फहराकर राष्ट्र गीत गाया। साधू ,संतों ने शहीदों को याद किया और कहा कि तिरंगे को लेकर राजनीति नहीं होनी चाहिए बलिक तिरंगे का सम्मान होना चाहिए। उन्होने राष्टी्रय एकता का संदेश दिया। मेले में आए लोग भी ध्वजारोहण समारोह में शामिल हुए।

shankaracharya swaroopanand
शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती पहुंच गए प्रयाग -
शुक्रवार रात को शंकराचार्य स्वरूपानंद जब नैनी जंक्शन पहुंचे तब वहां उनके भक्त ,स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद के नेतृत्व में फूल मालाएं लेकर मौजूद थे। वहां से शंकराचार्य का काफिला मनकामेश्वर मंदिर पहुंचा। 1फरवरी को उनकी पेशवाई होने तक वह वहीं रहेंगे।
झटपट खबरें कुंभ की :
1) शुक्रवार को शाम पांच बजे सेक्टर 11 के ति्रवेणी रोड सिथत अयोध्या के साकेत धाम आश्रम के शिविर में गैस सिलिंडर से आग लग गई। सेक्टर 11 के 6 टेंट जलकर खाक हो गए। 20 कल्पवासी झुलसे ।इनमें से सात लोग गंभीर हैं। इनका इलाज इलाहाबाद के स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल में चल रहा है।


2) सत्य सांई के जीवन दर्शन पर प्रदर्शनी कुंभ में।


3) कल सुबह 9ण्32 के पहले पौष पूर्णिमा का डुबकी का समय-देवेंद्र प्रसाद ति्रपाठी।


4) श्री पंचायती अखाड़ा में दो महंतों किशन गिरी तथा मार्तंड पुरी को शुक्रवार को महामंडलेश्वर की उपाधि दी गई।


5) जीवन ज्योती की एंबुलेंस सेवा शुरू।

6) कुंभ में खुला गुजराती अस्पताल।

Add comment

We welcome comments. No Jokes Please !

Security code
Refresh

Magh Mela 2014

Who's Online

We have 1121 guests online
 

Visits Counter

749179 since 1st march 2012