User Rating: / 0
PoorBest 

 

commissioner-metting3
मौनी अमावस्या के महास्नान की तैयारियों का जायजा लेने और तैयारियों को अंतिम रूप देने के लिए कमिश्नर श्री देवेश चतुर्वेदी और आई0जी0 आलोक शर्मा की अध्यक्षता में महत्वपूर्ण बैठक वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कुंभ के कार्यालय सभागार में 05-02-2013 को सम्पन हुई। उक्त बैठक में मेला के आयोजन से जुड़े सभी विभागों के प्रतिनिधि और सभी सेक्टर मजिस्ट्रेट के अलावा पुलिस के सभी वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे । बैठक को संबोधित करते हुए कमिश्नर श्री देवेश चतुर्वेदी ने कहा कि सभी सेक्टर मजिस्ट्रेट मौनी अमावस्या के महा स्नान को ध्यान में रखते हुए स्नान घाटों का निरीक्षण कर लें। जहां कहीं भी कोई कमी हो उसे हर हाल में सात तारीख तक ठीक कर अवगत करायें। उन्होंने कहा कि जल निगम, स्वास्थ्य, बिजली ,लोक निर्माण विभाग तथा खाध एवं रसद विभाग कंट्रोल रूम में आठ-आठ घंटे की डियूटी अपने कर्मियों की लगाकर कल्पवासियों, श्रद्धालुओं एवं पर्यटकों को दी जाने वाली मूलभूत सुविधाओं की जरूरी सूचनाएं दें एवं प्राप्त शिकायतों को संबंधित अधिकारियों को देकर उन्हे दूर करने का तेजी से प्रयास करें। उन्होने कहा कि अब मौनी अमावस्या का स्नान पर्व नजदीक है बार-बार निर्देश नहीं दिये जायेंगे जिस विभाग को जो जिम्मेदारी सौंपी गई है उसे जी-जान से जुट कर पूरा करें अन्यथा कि सिथति में संबंधित अधिकारियों के साथ साथ सेक्टर मजिस्ट्रेट को भी गंभीर परिणाम भुगतने होंगे।


श्री देवेश चतुर्वेदी ने संभागीय खाध नियंत्रक अटल राय को निर्देशित किया है कि वे राशन कोटेदारों पर पैनी नजर रखते हुए मेला क्षेत्र में निर्धारित दर के अनुरूप ही श्रद्धालुओं, कल्पवासियों को खाधान मुहैया करायें। उन्होंने कहा कि राशन वितरण में किसी प्रकार की गड़बड़ी पाये जाने पर मौके पर ही न केवल राशन कोटेदारों के विरुद्ध सुसंगत धाराओ के तहत कार्यवाही की जाए बलिक संबंधित एआरओ को प्रतिकूल प्रविषिट भी दी जाये।
कमिश्नर देवेश चतुर्वेदी ने जल निगम को निर्देश दिये कि मेला क्षेत्र की सड़कों के किनारे गडढ़ों को भरे या फिर उसे हटा कर बैरिकेट करे जिससे कि लोग उसमे गिरे नही। उन्होंने इस संबंध में सभी सेक्टर मजिस्ट्रेटों एवं क्षेत्राधिकारियों को भ्रमण कर गडढ़ों को चिनिहत करने और उन्हे भराकर शीघ्र रिपोर्ट प्रस्तुत करने का निर्देश दिया।
सिंचाई विभाग से पानी की वर्तमान पोजिशन की जानकारी लेते हुए कहा कि ं जितना पानी मकर संक्राति के दिन था उतना जल का स्तर 16 फरवरी तक रहे ताकि घाटों को अंतिम रूप दिया जा सके। किसी प्रकार की कोई दिक्कत आने पर तत्काल मेलाधिकारी एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मेला को बतायें। उन्होंने जल स्तर की रोजाना सूचना देने के निर्देश भी दिये हैं।
लोकनिर्माण विभाग से पांटून पुलों की जानकारी लेते हुए सभी पांटुन पुलों की सिथति देख लेने और प्रत्येक पुलों की बारीकी से जांच करने के निर्देश दिये । उन्होने कटान पर खास ध्यान देने और तुरंत वैकलिपक व्यवस्था तैयार रखने के निर्देश दिये हैं। सभी व्यवस्थाएं 6 फरवरी तक प्रत्येक दशा में पूर्ण करने के निर्देश दिये पांटून पुलों पर आने और जाने के संकेत सूचक लिखकर लगाने,तथा पांटून पुलों पर प्रकाश की बेहतर व्यवस्था बनाये रखने का निर्देश बिजली विभाग को दिये हैं। साथ ही घाटों के किनारों के खंभों की सिथति की जांच कर लेने की सख्त हिदायत दी है।
उन्होंने नगर स्वास्थ्य अधिकारी को सचेत करते हुए कहा है कि माननीय नगर विकास मंत्री जी कभी भी मेला क्षेत्र में आकर साफ-सफाई ,शौचालयों की सिथति का जायजा ले सकते हैं इसलिए मेला क्षेत्र की निरंतर साफ सफाई कराते रहें ताकि किसी भी श्रद्धालुओं, पर्यटकों, कल्पवासियों एवं साधु संतों को परेशानी न होने पाये । गंदगी पाये जाने पर नगर स्वास्थ्य अधिकारी सीधे तौर पर जिम्मेदार होंगेऔर उनके विरूद्ध कार्यवाही अमल मे लायी जायेगी।
उन्होंने अखाड़ों के आने और जाने वाले मागोर्ं पर निरंतर साफ सफाई कराने के अलावा मेलाक्षेत्र में आवंटित दुकानों को निर्धारित स्थान के भीतर ही दुकान लगाने एवं अवैध तरीके से लगाई गई दुकानों को सात तारीख तक अभियान चलाकर हटाने का निर्देश सभी सेक्टर मजिस्ट्रेट को दिये हैं उन्होने निर्देश दिये कि साफ सफाई का ख्याल नहीं रखने वाले दुकानों के आवंटन को रद्द कर दिया जाये ।
आईजी आलोक शर्मा ने उपसिथत सभी सेक्टर मजिस्ट्रेटों क्षेत्राधिकारियों को कड़े निर्देश दिये हैं कि वे मेला क्षेत्र में आने जाने वाले सभी गाडि़यों की चेकिंग करें और अनुचित जगहों पर जिन्होंने पंडाल लगाया है उसे शीघ्र हटायें। सुरक्षा में किसी तरह की कोई चूक न रहने पाये उनके द्वारा स्वयं मेला क्षेत्र का औचक निरीक्षण करके डियूटी पर तैनात अधिकारियों से सीधे जानकारी ली जायेगी।

 

Magh Mela 2014