Thursday, January 18, 2018
User Rating: / 0
PoorBest 

 

Kalpwasi-13

आयुक्त श्री देवेश चतुर्वेदी की अध्यक्षता में मेला क्षेत्र के वरिष्ठ प्रशासनिक शिविर कार्यालय में बैठक हुयी जिसमें उन्होने जल निगम को निर्देष दिये कि जल भराव वाले क्षेत्रों में तत्काल पम्प लगाकर पानी निकालें। जल निगम के अधिकारियों ने बताया कि मेला क्षेत्र में विभिन्न स्थलों पर हुए जल भराव से पानी निकालने हेतु 109 पम्प लगवाये गये है। 14 पम्प केवल अखाड़ों से पानी निकालने हेतु लगाये गये हैं। जल निकासी प्राथामिकता है। उन्होंने बताया कि गतदिवस संस्थाओं में बिजली सप्लाई इसलिए रोकी गयी थी कि बिजली के कारण कोई दुर्घटना न हो। आयुक्त ने निर्देष दिये कि बिजली के तार, बिजली के टेड़े मेडे़ खम्भे, ढीले तारों को ठीक किया जाय। विधुत विभाग ने बताया कि खम्भे और तार ठीक किये जा रहे है और बिजली आपूर्ति पूरे मेला क्षेत्र में स्ट्रीट लाइटों सहित सभी जगह सुचारू रूप से की जा रही है। देर शाम तक पूरे मेला क्षेत्र में बिजली की आपूर्ति सुचारू कर दी गयी है।

बैठक में लोक निर्माण विभाग को निर्देश दिये कि मेला क्षेत्र की सड़कों पर जहां गढढे हो गये हो उन्हें तत्काल भराया जाय। लोक निर्माण विभाग द्वारा बताया गया कि बनाये गये पाण्टून पुलों में कोई कमी नहीं है, सभी ठीक है। चकर्ड प्लेटों के बीच एवं सड़कों के गढढों को दुरूस्त करने की कार्रवाई शुरू हो गयी है। बैठक में आयुक्त ने सभी विभागों को निर्देश दिये कि वे अपने अपने जगह पर रह कर लगातार काम करें। उन्होंने समस्त सेक्टर एवं जोनल मजिस्ट्रेट व अन्य विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे अपने अपने सेक्टरों में रह कर लोगों से मिलते रहे और कल्पवासियोंश्रद्धालुओ के सम्पर्क में रहते हुए उनका मार्ग दर्शन करते रहे। किसी भी श्रद्धालु को कोई परेशानी न हो इस पर विशेष ध्यान दें। उन्होंने सभी कार्यालयों को निर्देश दिये है कि वे अपने-अपने कार्य सक्रिय होकर करें।

कल्पवासी और श्रद्धालु मेले में रूके है, वे मेला छोड़ कर नहीं जा रहे है। कल्पवास पूरा होने के बाद ही जायेंगेे। मेले में 5 लाख से अधिक कल्पवासी रूके हुए है। मेला क्षेत्र में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अन्तर्गत खुली राशन की दुकाने जहां जिस सेक्टर में खुली है, वहीं रहेंगी। आयुक्त ने खाध एवं विपणन विभाग को निर्देशित किया है कि जिन कल्पवासियों के खाधान्न भीग गये है, उन्हें अतिरिक्त परमिट देते हुए 15 दिनों के लिए 10 किलो आटा, साढे़ सात किलो चावल, ढाई लीटर (दो बार) में मिटटी का तेल, एक किलो चीनी प्रत्येक राशन कार्ड पर दिया जाय।

आयुक्त ने बताया कि गत दिवस 60 मिमी0 बारिश हुई है। सेक्टर 11 और 12 में निचला क्षेत्र होने के कारण जलभराव हो गया था जिसे पम्पसेट लगाकर निकाला जा रहा है। एक जेसीबी मशीन भी वहां लगायी गयी है जिससे आज पानी निकाल दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि 15 फरवरी की रात्रि से ही सभी संबनिधत क्षेत्रों के अधिकारियों द्वारा राहत के कार्य शुरू कर दिये गये थे, जो अनवरत चल रहा है। कल्पवासी और श्रद्धालु रूके हुए है। उन्हें सभी आवश्यक सुविधायें दी जा रही है। श्रद्धालुओं की सुविधा को दृषिटगत रखते हुए सभी बसों का संचालन परेड रोड से कर दिया गया है।

 

Add comment

We welcome comments. No Jokes Please !

Security code
Refresh

Magh Mela 2014

Who's Online

We have 2090 guests online
 

Visits Counter

770031 since 1st march 2012