Tuesday, November 21, 2017
User Rating: / 0
PoorBest 

 


वंदना किलोर, नोएडा : आप यह जानकर हैरान रह जाएंगे कि नोएडा, ग्रेटर नोएडा और यमुना एक्सप्रेसवे डिवेलपमेंट अथॉरिटी के पूर्व चीफ इंजिनियर यादव सिंह ने अपना ज्यादातर करियर बिना इंजिनियरिंग की डिग्री के ही बिता दिया। बावजूद इसके नियमों को ताक पर रखकर उन्हें प्रमोशन पर प्रमोशन मिलते रहे।

1980 में यादव सिंह ने नोएडा अथॉरिटी में बतौर जूनियर इंजिनियर(JE) जॉइनिंग की थी। 1985 में उन्हें असिस्टेंट प्रॉजेक्ट इंजिनियर प्रमोट कर दिया गया और 1995 में प्रॉजेक्ट इंजिनियर बना दिया गया, लेकिन इस दौरान तक जनाब के पास इंजिनियरिंग की डिग्री ही नहीं थी।

1995 में यादव सिंह को इस शर्त के साथ प्रमोट किया गया था कि 3 साल के अंदर उन्हें डिग्री लेनी होगी और उन्होंने ऐसा किया भी। लेकिन इस प्रमोशन ने कई सवाल खड़े किए थे। पहला- उनके पास डिग्री नहीं थी, दूसरा- 20 अन्य असिस्टेंट प्रॉजेक्ट इंजिनिययों पर उन्हें कैसे तवज्जो दी गई?

नोएडा अथॉरिटी के रिक्रूटमेंट और प्रमोशन रूल्स कहते हैं कि एक ऑफिसर को जेई से असिस्टेंट प्रॉजेक्ट इंजिनियर तभी प्रमोट किया जा सकता है, जब वह जेई के तौर पर 15 साल का अनुभव रखता हो। साथ ही प्रॉजेक्ट इंजिनियर की पोस्ट हासिल करने के लिए इंजिनियरिंग की डिग्री होना जरूरी है, लेकिन यादव सिंह के मामले में ये सब रूल धरे के धरे रह गए।

प्रॉजेक्ट इंजिनियर बनने के बाद तो यादव सिंह की किस्मत का तारा चमक उठा। यादव सिंह दरअसल 'जाटव' हैं और उन्हें मायावती के रूप में एक 'सहारा' मिल गया। 2002 में उन्हें चीफ मैनटेनेंस इंजिनियर और फिर 2011 में नोएडा अथॉरिटी का इंजिनियर इन चीफ बना दिया गया।

साल 2012 में समाजवादी पार्टी की सरकार जब सत्ता में आई, तो यादव सिंह को 954 करोड़ रुपये के घोटाले के आरोप में सस्पेंड कर दिया गया, लेकिन 2013 में फिर से बहाल कर दिया गया। फिर इस साल नवंबर में यादव सिंह को नोएडा, ग्रेट नोएडा और यमुना एक्सप्रेसवे, तीनों अथॉरिटीज़ का चीफ इंजिनियर बना दिया गया।

यह प्रभार संभालने के 15 दिनों के अंदर ही इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने यादव के घर पर और उनसे जुड़ी कंपनियों पर छापा मारा। एयसूवी से 12 करोड़ रुपये बरामद हुए और सेक्टर 51 के बंगले से हीरों से जुड़े सोने के 2 किलो गहने भी बरामद किए गए।

 

साभार: नव भारत टाइम्स

 

 

 

 

Miscellaneous

Who's Online

We have 1615 guests online
 

Visits Counter

749686 since 1st march 2012