Thursday, November 23, 2017
User Rating: / 0
PoorBest 

feel good

फ्रेश स्टार्ट

        जो ड्रेस कैरी करनी है, लंच में क्या ले जाना है, ये पहले से तय कर लें। लंच बॉक्स को पहले से साफ करके रखें। अपने ब्रीफकेस या पर्स में वे सारे जरूरी सामान पहले से रख लें, जिनकी जरूरत पड़ने वाली है। कार या बाइक की चाबी पास ही रखें, ताकि इसको ढूंढ़ने में वक्त जाया न करना पड़े।

और हां, कार या बाइक में पेट्रोल ऑफिस से घर जाते समय एक दिन पहले भरवाएं, जिससे सुबह ऐसी कोई परेशानी न हो। दरअसल, दिनचर्या व्यवस्थित न होने की वजह से ज्यादातर लोग दिन की खराब शुरुआत करते हैं। काम को जल्दबाजी में करने से कुछ चीजें भूलने की आशंका और चिंता बनी रहती है।

फूड से फीलगुड

        नाश्ता न कर हम अक्सर एक बड़ी गलती करते हैं। एक हालिया सर्वे के मुताबिक, शहरी जीवन में नाश्ते के प्रति लापरवाही आम हो गई है। इससे शरीर में जरूरी पोषक तत्व कम हो जाते हैं, जो कई बड़ी बीमारियों को दावत देता है। यदि नाश्ता न करने की आदत आपकी भी है, तो यह आपके डेली रुटीन पर भी बुरा असर डालता है। भूख की वजह से काम के प्रति रवैया उत्साहजनक नहीं होता। इसलिए नाश्ता शांति से करें और उसमें जरूरी पोषक तत्वों का भी पूरा ध्यान रखा जाए।

खुशनुमा रहेगा माहौल

        यदि आप पॉजिटिव हैं, तो आपके आसपास का वातावरण भी खुशनुमा होगा। यदि निगेटिव बातें करते हैं, तो आप खुद भी तरोताजा महसूस नहीं कर पाएंगे। कुछ बातें जरूर ध्यान रखें। पॉजिटिव रहने के लिए छोटी-छोटी बातें अहम हैं। जैसे, ऑफिस पहुंचने के बाद साथियों का बाकायदा नाम लेकर अभिवादन करें, इससे उन्हें अच्छा महसूस होता है। किसी क्लाइंट से मिल रहे हैं या बॉस से जब भी किसी से मिलें, चेहरे पर मुस्कुराहट जादुई असर डालती है। मुसीबत में किसी कॅलीग की तरफ मदद के लिए बढ़ाया गया हाथ, कभी जाया नहीं होता।

पूरा हो कमिटमेंट

        दिनचर्या को कुछ इस तरह व्यवस्थित करें कि जो उस दिन के लिए लक्ष्य तय किया है, उसे पूरा कर सकें। डू टू लिस्ट ऐसी बनाएं, जिसमें लचीलापन हो। कोई भी ऐसा काम न लें, जिसे आप समय पर पूरा न कर सकें। न कहने की आदत भी डालना जरूरी है। लेकिन यह आसान नहीं होता। यह एक कला है, जिसमें काम आती है आपकी विनम्रता और व्यावहारिक सोच। कोशिश करें जो कमिटमेंट किया है, वह पूरा हो और जो आपके वश में नहीं है, उसकी जिम्मेदारी न ली जाए।

जरा सोचिए..

        जरा सी बात पर उत्तेजित हो जाने का स्वभाव है, तो आपको इसे काबू करने की कोशिश करनी चाहिए। गुस्से में आप एक अच्छे खासे दिन को बर्बाद कर सकते हैं। अगर काम के बोझ की वजह से आपका इस तरह का व्यवहार है, तो इस पर तुरंत ब्रेक लगनी चाहिए।

साभार: दैनिक जागरण

Add comment

We welcome comments. No Jokes Please !

Security code
Refresh

youth corner

Who's Online

We have 1824 guests online
 

Visits Counter

750290 since 1st march 2012