Thursday, November 23, 2017
User Rating: / 0
PoorBest 

aim

अक्सर ऐसा होता है आप किसी चीज से जितना ही पीछा छुड़ाने की कोशिश करते हैं वे चीजें उतनी ही आपके पीछे साए की तरह मंडराती रहती हैं। आपको पता होता है कि वह काम करना जरूरी है लेकिन आप उसे करने से डरते हैं और उससे बचने की कोशिश करते हैं। कई बार तो लोग घबराकर बना बनाया काम बिगाड़ डालते हैं। लेकिन अगर उस काम को थोड़े धैर्य के साथ करने की कोशिश की जाए तो परिस्थितियां भी साथ देती हैं। कहा जाता है कि डर के आगे जीत है।

खुद के डर पर काबू पाने वाला व्यक्ति जीवन में हर लक्ष्य को आसानी से हासिल कर लेते हैं। वहीं डरने वाला व्यक्ति जीवन भर अपनी क्षमताओं को जान नहीं पाता और साधारण जीवन जीने को विवश हो जाता है। आपको आगे बढऩा है तो सबसे पहले अपने मन से डर को दूर करना होगा।

 

हिम्मत न हारे

कुछ लोग ऐसे होते हैं जो थोड़ा-सा जोखिम भरा काम हुआ नहीं कि उस काम से डर कर उसे न करने का मन बना लेते हैं। पहले ही यह सोच कर काम को छोड़कर बैठ जाना कि अमुक काम में सफलता मिलेगी या विफलता आपके करियर के लिए सही नहीं होगा। अगर आप पहले ही डर कर आगे के हर काम को रोकते जाएंगे तो जीवन में आप आगे नहीं बढ़ सकते। डर आपको अंदर से कमजोर बनाता है और आपके अंदर नकारात्मक चीजों को बढ़ावा देता है।

इसलिए अपने आप में इतना आत्मविश्वास बनाएं कि आपके अंदर हर काम को कर पाने का साहस हो। करियर की बात हो या जिंदगी में कुछ नया करने की। मन में शंका उठना स्वाभाविक है लेकिन ऐसे में याद रखें उस शंका का निवारण भी आपको ही करना होता है।

 

काम को करें योजनाबद्ध तरीके से

किसी भी काम को योजनाबद्ध तरीके से करने की कोशिश करें ताकि आपको भविष्य में अपने डर की वजह के लिए गए निर्णय पर पछतावा न हो। कई बार आपके पास ऐसी परिस्थितियां भी आ पड़ती होंगी जब आपके पास सोचने-समझने का ज्यादा समय नहीं बचता बल्कि केवल निर्णय लेना पड़ जाता है। सही मायने में ऐसे समय में ही व्यक्ति की असल परीक्षा होती है।

तब आपको अपने बारे में जानने का भी एक मौका मिलता है और पता चलता है आप अपने भविष्य का फैसला अपने आप कितने बेहतरे तरीके से कर सकते हैं। व्यक्ति परिस्थितियों से डर बहुत जल्दी जाता है लेकिन उससे घबराए बिना आपको वैसे में धैर्य से काम लेना चाहिए।

 

हावी न होने दें

किसी भी काम की शुरूआत में मन के अंदर एक डर पैदा होना स्वाभाविक है लेकिन ऐसा नहीं होना चाहिए कि उस डर को अपने ऊपर इतना हावी कर लिया जाए कि उस काम को अंजाम तक न पहुंचा सके। जीवन में आगे बढऩे के लिए सबसे पहले मन से डर को हटाना चाहिए।

डर एक ऐसी चीज है जिससे इंसान अंदर ही अंदर परेशान रहता है और वह जो भी काम करना चाहता है उसे चाहते हुए भी करने में पीछे रह जाता है। वजह है-उसका डर या नकारात्मक सोच।

Add comment

We welcome comments. No Jokes Please !

Security code
Refresh

youth corner

Who's Online

We have 1387 guests online
 

Visits Counter

750290 since 1st march 2012