Tuesday, November 21, 2017
User Rating: / 0
PoorBest 

prof life

अपनी प्रोफैशनल लाइफ में सफल होने के लिए आप जी-तोड़ मेहनत करते हैं लेकिन कभी-कभी आप अपने गुस्से और चिड़चिड़ेपन पर काबू नहीं रख पाते, जिस वजह से आपकी सारी मेहनत पर पानी फिर जाता है। अपने काम को लेकर आप काफी संजीदा हैं और ईमानदारी के साथ सभी काम भी करते हैं लेकिन फिर भी आपको प्रमोशन नहीं मिलता। आखिर ऐसा क्यों होता है। क्या कभी  आपने ये सब जानने की कोशिश की है। जी हां, आफिस में सफल होने के लिए अपनी भावनाओं पर नियंत्रण रखना बहुत ही आवश्यक है। इसके लिए जरूरी है कुछ बातों को गांठ बांध लेना:

इंसान गलतियों का पुतला होता है। कमी तो हर इंसान में होती है, आप में भी होगी। अपनी कमियों को नजरअंदाज या छुपाने की बजाय    एक डायरी में नोट करें। उन बातों को भी लिखें, जब आप अपनी भावनाओं पर नियंत्रण नहीं रख पाते। उदाहरण के लिए अगर आप अत्यधिक संवेदनशील हैं तो न चाहते हुए भी असफलता के क्षणों में आपकी आंखें भर आती हैं या फिर खुश होने पर अति उत्साहित होते हैं।

हर आफिस में ऐसे लोग भी होते हैं जो आपको पसंद नहीं करते। उनकी इस बात को नजरअंदाज करके उनसे काम के संबंध में बात करें व अच्छा रिश्ता बनाने का प्रयत्न करें। उनके प्रति गुस्से या नापसंदगी को कभी जाहिर न होने दें।

अपने बॉस को समझने की कोशिश करें और उसी के अनुसार उनसे व्यवहार करें। बहसबाजी न करें। आप पर केवल काम की जिम्मेदारी होती है लेकिन बॉस पर सबकी और पूरे आफिस की जिम्मेदारी होती है। आफिस की तरक्की या नुक्सान में वह ही जवाबदेह होते हैं। अत: बॉस का दिल से सम्मान करें और उनकी बातों को पूरे ध्यान से अमल में लाएं।

अगर आप अपने बॉस या कुलीग की किसी बात से असहमत हैं या उनके बर्ताव पर आपको गुस्सा आ जाए तो तुरंत कोई प्रतिक्रिया न दें बल्कि विनम्रतापूर्वक उनसे बात करें।

घरेलू बातों का आफिस के काम पर असर न पडऩे दें। अपनी भावनाओं पर काबू रखना सीखें। आपकी घरेलू परेशानियों की वजह से आफिस का काम प्रभावित हो सकता है।

पॉजीटिव सोच रखें और प्रोफैशनल बातों को दिल से न लगाएं। छोटी-छोटी बातों पर हिम्मत हार देने से आपका करियर खराब हो सकता है। अत: टैंशन फ्री रहें।

Add comment

We welcome comments. No Jokes Please !

Security code
Refresh

youth corner

Who's Online

We have 2945 guests online
 

Visits Counter

749687 since 1st march 2012